NEET 2019: एग्जाम पेपर की समीक्षा और कट-ऑफ, फिजिक्‍स और केमिस्‍ट्री से आसान थे बायो के प्रश्‍न

फाइल फोटो

फाइल फोटो

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने रविवार 5 मई 2019 को नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET) आयोजित किया. इस परीक्षा में देश भर से छात्रों ने हिस्सा लिया.

  • Share this:

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने रविवार 5 मई 2019 को नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET) आयोजित किया. इस परीक्षा में देश भर से छात्रों ने हिस्सा लिया. बता दें कि इस साल मेडिकल और डेंटिस कोर्स में एडमिशन के लिए नीट परीक्षा का आयोजन एनटीए द्वारा किया गया. गौरतलब है कि नीट परीक्षा 2019 रविवार को दोपहर 2 बजे से शुरू होकर तीन घंटे बाद 5 बजे समाप्त हुई.

एनटीए ने इस परीक्षा को ओडिशा को छोड़कर परे देश में संपन्न कराया है. उल्लेखनीय है कि ओडिसा में चक्रवातीय तूफान फ़ानी के कारण एग्जाम कराना संभव नहीं था. ओडिसा में नीट का एग्जाम एनटीए बाद में आयोजित करेगा. जिसकी जानकारी एनटीए के ऑफिशियल वेबसाइट में साझा कर दी जाएगी. हालांकि इस बार देश में लोकसभा चुनाव के मद्देनजर कुछ राज्यों में पहले ही परीक्षा केंद्रों को लेकर कुछ बदलाव किए गए थे.

एनईईटी परीक्षा ड्रेस कोड था लागू

इसके अतिरिक्त एनटीए ने परीक्षार्थियों को सुचत किया था कि वे परीक्षा केंद्रों में समय से कुछ पहले पहुंचे. जिससे जांच प्रक्रिया के कारण उन्हें देरी का सामना न करना पड़े. एनटीए ने नकल की घटना से बचने के लिए एक एनईईटी परीक्षा ड्रेस कोड भी निर्धारित किया था. एनटीए ने अपने पहले जारी गाइडलाइन में परीक्षार्थियों को स्लीवलेस या हाफ स्लीव कपड़ों में नीट परीक्षा केंद्रों में आने के लिए कहा था. इसके साथ ही जूते की अनिमति नहीं थी. जबकि छात्राओं को चप्पल में आने के लिए कहा गया था.
NEET EXAM 2019: परीक्षा पेपर का विश्लेषण



1-नीट का एग्जाम देने वाले परीक्षार्थियों के अनुसार भौतिकी और रसायन विज्ञान का पेपर उम्मीद से कहीं अधिक कठिन था. जबकि जीवविज्ञान का पेपर इनकी तुलना में आसान था.

2-परीक्षार्थियों का मानना है कि परीक्षा में अधिकांस प्रश्न एनसीईआरटी के पाठ्यक्रम से आया था.

3-वहीं कुछ परीक्षार्थियों का ऐसा भी मानना है कि कुछ संख्यात्मक प्रश्न अधिक कठिन थे.

4-साथ ही कुछ छात्रों की ऐसी भी शिकायत थी कि उत्तर पुस्तिका उन्हें 2 बजे दी गई, जबकि उसमें विवरण भरने में ही 10 मिनट का समय लग गया. छात्रों का कहना है कि उन्हें उत्तर पुस्तिका कुछ समय पहले ही मिल जानी चाहिए था, जिससे उनका समय बचता.

NEET EXAM 2019 का कट-ऑफ

विशेषज्ञों का मानना है कि एस बार के नीट एग्जाम पेपर स्तरीय रहा है. इस एग्जाम का कट-ऑफ 2017 और 2018 जैसे ही रहेगा.

ये भी पढ़ें: NEET 2019 एग्जाम संपन्न, जल्द जारी होगा आंसर की

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज