दुनिया के सबसे कंजूस 'बापू' हैं ये इंडियन

बापू नाडकर्णी ने 12 जनवरी 1964 को टेस्ट क्रिकेट में लगातार 21 मेडन ओवर फेंके थे.

बापू नाडकर्णी ने 12 जनवरी 1964 को टेस्ट क्रिकेट में लगातार 21 मेडन ओवर फेंके थे.

बापू नाडकर्णी ने 12 जनवरी 1964 को टेस्ट क्रिकेट में लगातार 21 मेडन ओवर फेंकने का रिकॉर्ड बनाया था. बापू ने पहली पारी में 32 ओवर फेंके, जिसमें उन्होंने 27 ओवर मेडन फेंके थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 12, 2018, 11:46 AM IST
  • Share this:

इंटरनेशनल क्रिकेट के 141 वर्षों में कई रिकॉर्ड बने और कई रिकॉर्ड टूटे. रिकॉर्ड बुक में नित नए कीर्तिमान जुड़ने और उनके बदलने का सिलसिला 1877 में खेले गए पहले टेस्ट से ही जारी है. फिर भी एक ऐसा रिकॉर्ड है जो पिछले 54 साल से अटूट है और कोई भी प्लेयर अब तक इसे तोड़ नहीं सका है.

ये रिकॉर्ड आज के ही दिन यानी 12 जनवरी 1964 को बना था. मुकाबला भारत और इंग्लैंड के बीच था और मैदान चेन्नई का चेपॉक स्टेडियम था. इस मैच का नतीजा तो किसी को याद नहीं रहता, लेकिन टीम इंडिया के गेंदबाज बापू नाडकर्णी ने इस मैच में एक ऐसा रिकॉर्ड बनाया जिसे आजतक कोई भी गेंदबाज नहीं तोड़ पाया.

महाराष्ट्र के नासिक में जन्मे बापू नाडकर्णी ने 12 जनवरी 1964 को टेस्ट क्रिकेट में लगातार 21 मेडन ओवर फेंकने का रिकॉर्ड बनाया था. बापू ने पहली पारी में 32 ओवर फेंके, जिसमें उन्होंने 27 ओवर मेडन फेंके थे.



बापू नाडकर्णी ने इतनी कंजूसी भरी गेंदबाजी की थी कि अंग्रेज बल्लेबाज उनकी गेंदों पर सिर्फ पांच रन ही बना सके थे. उन्होंने 131 गेंदे लगातार डॉट फेंकी थी यानी इन गेंदों पर कोई भी रन नहीं बना था. बापू नाडकर्णी की गेंदबाजी विवरण था, 32 ओवर, 27 मेडन, 5 रन और कोई विकेट नहीं. बापू ने पहली पारी में सिर्फ 0.15 इकोनॉमी से रन दिए थे, जो फटाफट क्रिकेट के इस दौर में सोचना भी बेमानी लगता है.
क्रिकेट में जबसे एक ओवर में 6 गेंदे फेंकी जाने लगीं उसके बाद से लेकर आज तक कोई भी दूसरा गेंदबाज इस करिश्मे को दोहरा नहीं सका है. 54 साल से ये रिकॉर्ड बापू के नाम पर ही दर्ज है.

क्रिकेट में जबसे एक ओवर में 6 गेंदे फेंकी जाने लगीं उसके बाद से लेकर आज तक इस रिकॉर्ड को कोई दूसरा गेंदबाज तोड़ नहीं सका है. ओवर के मामले में नाडकर्णी तो गेंद के मामले में यह रिकॉर्ड दक्षिण अफ्रीकी ऑफ स्पिनर ह्यू टेफील्ड के नाम पर है. आठ गेंद के ओवर के दौर में ह्यू टेफील्ड ने 1956-57 में लगातार 137 डॉट गेंद फेंकी थी. उन्होंने 17.1 लगातार मेडन ओवर फेंके थे.

हालांकि, क्रिकेट में छह गेंदों के पहले आठ गेंदों का एक ओवर होता था. उस वक्त दक्षिण अफ्रीकी ऑफ स्पिनर ह्यू टेफील्ड ने 1956-57 में लगातार 137 डॉट गेंद फेंकी थी. उन्होंने 17.1 लगातार मेडन ओवर फेंके थे. ऐसे में गेंदों के मामले में रिकॉर्ड हूय टेफील्ड तो ओवर के मामले नाडकर्णी के नाम पर यह रिकॉर्ड दर्ज है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज