लाइव टीवी

हिन्दुस्तान का हवामहल


Updated: March 5, 2015, 4:11 PM IST
हिन्दुस्तान का हवामहल
भारत की धरती पर हवामहल! दुनिया का सबसे बड़ा एयरक्राफ्ट बोइंग 787 ड्रीमलाइनर, 290 यात्रियों को 16 हजार किलोमीटर तक नॉनस्टॉप ले जाने वाला हवाई जहाज। बोइंग 787 पाने वाला भारत होगा दूसरा देश।

भारत की धरती पर हवामहल! दुनिया का सबसे बड़ा एयरक्राफ्ट बोइंग 787 ड्रीमलाइनर, 290 यात्रियों को 16 हजार किलोमीटर तक नॉनस्टॉप ले जाने वाला हवाई जहाज। बोइंग 787 पाने वाला भारत होगा दूसरा देश।

  • Last Updated: March 5, 2015, 4:11 PM IST
  • Share this:
[caption id="attachment_304668"]भारत की धरती पर हवामहल! दुनिया का सबसे बड़ा एयरक्राफ्ट बोइंग 787 ड्रीमलाइनर, 290 यात्रियों को 16 हजार किलोमीटर तक<br />
नॉनस्टॉप ले जाने वाला हवाई जहाज। बोइंग 787 पाने वाला भारत होगा दूसरा देश।<br />
भारत की धरती पर हवामहल! दुनिया का सबसे बड़ा एयरक्राफ्ट बोइंग 787 ड्रीमलाइनर, 290 यात्रियों को 16 हजार किलोमीटर तक
नॉनस्टॉप ले जाने वाला हवाई जहाज। बोइंग 787 पाने वाला भारत होगा दूसरा देश।

[/caption]
दुनिया का सबसे बड़ा एयरक्राफ्ट बोइंग 787 ड्रीमलाइनर आज हिंदुस्तान की धरती पर उतरा। राजधानी के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर ये ड्रीमलाइनर सियेटल से टोक्यो होते हुए पहुंचा। सुबह साढ़े 10 बजे एयरपोर्ट पर ड्रीमलाइनर के स्वागत की पूरी तैयारियां कर ली गई हैं।
दुनिया का सबसे बड़ा एयरक्राफ्ट बोइंग 787 ड्रीमलाइनर आज हिंदुस्तान की धरती पर उतरा। राजधानी के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर ये ड्रीमलाइनर सियेटल से टोक्यो होते हुए पहुंचा। सुबह साढ़े 10 बजे एयरपोर्ट पर ड्रीमलाइनर के स्वागत की पूरी तैयारियां कर ली गई हैं।
लेकिन ड्रीमलाइनर का दिल्ली में ठहराव सिर्फ एक दिन होगा और एयरक्राफ्ट कल मुंबई के लिए रवाना हो जाएगा। इसके बाद ये वहां से सीधे अपने ठिकाने सियेटल के लिए रवाना हो जाएगा।
लेकिन ड्रीमलाइनर का दिल्ली में ठहराव सिर्फ एक दिन होगा और एयरक्राफ्ट कल मुंबई के लिए रवाना हो जाएगा। इसके बाद ये वहां से सीधे अपने ठिकाने सियेटल के लिए रवाना हो जाएगा।
अमेरिकी एयरक्राफ्ट निर्माता कंपनी बोइंग को एयर इंडिया ने सन 2005 में 27 हवाई जहाजों का ऑर्डर दिया था जिन्हें 2008 से 2014 के बीच में बोइंग को देना था लेकिन बोइंग कंपनी समय पर एयरक्राफ्ट नहीं बना सकी और एयर इंडिया को ड्रीमलाइनर मिलने में काफी देरी हो गई।
अमेरिकी एयरक्राफ्ट निर्माता कंपनी बोइंग को एयर इंडिया ने सन 2005 में 27 हवाई जहाजों का ऑर्डर दिया था जिन्हें 2008 से 2014 के बीच में बोइंग को देना था लेकिन बोइंग कंपनी समय पर एयरक्राफ्ट नहीं बना सकी और एयर इंडिया को ड्रीमलाइनर मिलने में काफी देरी हो गई।
अब उसे अपना पहला एयरक्राफ्ट अक्टूबर में मिलेगा जिसे वो दिल्ली-मुंबई-मेलबर्न रूट पर चलाने की सोच रहा है।
अब उसे अपना पहला एयरक्राफ्ट अक्टूबर में मिलेगा जिसे वो दिल्ली-मुंबई-मेलबर्न रूट पर चलाने की सोच रहा है।
बोइंग के एक्जीक्यूटिव वाइस प्रेसीडेंट जेम्स अलबॉग ने कहा कि हम देरी के लिए माफी चाहते हैं। हमें उम्मीद है कि जब आप इस विमान में यात्रा करेंगे और इसकी खासियतें देखेंगे तो आप हमें माफ कर देंगे।
बोइंग के एक्जीक्यूटिव वाइस प्रेसीडेंट जेम्स अलबॉग ने कहा कि हम देरी के लिए माफी चाहते हैं। हमें उम्मीद है कि जब आप इस विमान में यात्रा करेंगे और इसकी खासियतें देखेंगे तो आप हमें माफ कर देंगे।
एयर इंडिया के अलावा जेट एयरवेज ने भी बोइंग के ड्रीमलाइनर 787-8 वर्जन के 10 ऑर्डर दे रखे हैं। जेट एयरवेज इसके जरिए उत्तरी अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया के लिए नॉनस्टॉप फ्लाइट शुरू करना चाहता है।
एयर इंडिया के अलावा जेट एयरवेज ने भी बोइंग के ड्रीमलाइनर 787-8 वर्जन के 10 ऑर्डर दे रखे हैं। जेट एयरवेज इसके जरिए उत्तरी अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया के लिए नॉनस्टॉप फ्लाइट शुरू करना चाहता है।
एयर इंडिया को इस साल अक्टूबर के बाद नवंबर में दो और दिसबंर में एक और ड्रीमलाइनर एयरक्राफ्ट मिलने की उम्मीद है।
एयर इंडिया को इस साल अक्टूबर के बाद नवंबर में दो और दिसबंर में एक और ड्रीमलाइनर एयरक्राफ्ट मिलने की उम्मीद है।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 13, 2011, 5:07 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर