Home /News /photo /

बर्थडे स्पेशलः रितुपर्णो की टॉप 10 फिल्में

बर्थडे स्पेशलः रितुपर्णो की टॉप 10 फिल्में

बंगाली फिल्मों के मशहूर डायरेक्टर रितुपर्णो घोष की आज 50 वीं जयंती है। वह आम आदमी की कहानियों पर यर्थाथवादी फिल्में बनाते थे। उन्हें मिले 12 नेशनल अवॉर्ड इसका सबूत हैं कि उन्होंने बांग्ला फिल्म इंडस्ट्री में कितनी गहरी छाप छोड़ी। उनकी बनाई फिल्म चोखेर बाली कोई कभी नहीं भूल सकता।

बंगाली फिल्मों के मशहूर डायरेक्टर रितुपर्णो घोष की आज 50 वीं जयंती है। वह आम आदमी की कहानियों पर यर्थाथवादी फिल्में बनाते थे। उन्हें मिले 12 नेशनल अवॉर्ड इसका सबूत हैं कि उन्होंने बांग्ला फिल्म इंडस्ट्री में कितनी गहरी छाप छोड़ी। उनकी बनाई फिल्म चोखेर बाली कोई कभी नहीं भूल सकता।

बंगाली फिल्मों के मशहूर डायरेक्टर रितुपर्णो घोष की आज 50 वीं जयंती है। वह आम आदमी की कहानियों पर यर्थाथवादी फिल्में बनाते थे। उन्हें मिले 12 नेशनल अवॉर्ड इसका सबूत हैं कि उन्होंने बांग्ला फिल्म इंडस्ट्री में कितनी गहरी छाप छोड़ी। उनकी बनाई फिल्म चोखेर बाली कोई कभी नहीं भूल सकता।

अधिक पढ़ें ...
    कहा जाता है कि 'अबोहमन' सत्यजीत रे के जीवन पर आधारित थी लेकिन रितुपर्णो ने कभी इसकी तस्दीक नहीं की।
    कहा जाता है कि 'अबोहमन' सत्यजीत रे के जीवन पर आधारित थी लेकिन रितुपर्णो ने कभी इसकी तस्दीक नहीं की।
    'बाड़ीवाली' में किरण खेर की मुख्य भूमिका में थीं। कहानी थी एक ऐसी अकेली औरत की जो अपना घर शूटिंग क्रू को किराए पर देती हैं और फिर खुद भी एक रोल के लिए प्रयास करती हैं।
    'बाड़ीवाली' में किरण खेर की मुख्य भूमिका में थीं। कहानी थी एक ऐसी अकेली औरत की जो अपना घर शूटिंग क्रू को किराए पर देती हैं और फिर खुद भी एक रोल के लिए प्रयास करती हैं।
    'दोसोर' पूरी तरह ब्लैक एंड व्हाइट में फिल्माई गई थी।
    'दोसोर' पूरी तरह ब्लैक एंड व्हाइट में फिल्माई गई थी।
    रितुपर्णो की 'द लास्ट लियर' एकमात्र अंग्रेजी फिल्म थी जिसमें अमिताभ बच्चन, अर्जुन रामपाल और प्रीति जिंटा थीं।
    रितुपर्णो की 'द लास्ट लियर' एकमात्र अंग्रेजी फिल्म थी जिसमें अमिताभ बच्चन, अर्जुन रामपाल और प्रीति जिंटा थीं।
    रितुपर्णों ने अजय देवगन और ऐश्वर्या राय को लेकर हिंदी फिल्म 'रेनकोट' बनाई।
    रितुपर्णों ने अजय देवगन और ऐश्वर्या राय को लेकर हिंदी फिल्म 'रेनकोट' बनाई।
    रितुपर्णो ने बिपाशा बसु की पहली बांग्ला फिल्म'शोब चरित्र काल्पोनिक' भी बनाई।
    रितुपर्णो ने बिपाशा बसु की पहली बांग्ला फिल्म'शोब चरित्र काल्पोनिक' भी बनाई।
    रितुपर्णो की'शुभो मुहूर्त'में राखी गुलजार और शर्मिला टैगोर की मुख्य भूमिका थी।
    रितुपर्णो की'शुभो मुहूर्त'में राखी गुलजार और शर्मिला टैगोर की मुख्य भूमिका थी।
    अपर्णा सेन और बेटी कोंकणा सेन को लेकर रितुपर्णो ने 'तितली'बनाई।
    अपर्णा सेन और बेटी कोंकणा सेन को लेकर रितुपर्णो ने 'तितली'बनाई।
    उनीशे अप्रैल रितुपर्णो की दूसरी फिल्म थी। इसमें मुख्य भूमिका निभाई थी अपर्णा सेन और प्रसेनजीत चटर्जी ने।
    उनीशे अप्रैल रितुपर्णो की दूसरी फिल्म थी। इसमें मुख्य भूमिका निभाई थी अपर्णा सेन और प्रसेनजीत चटर्जी ने।
    बंगाली फिल्मों के मशहूर डायरेक्टर रितुपर्णो घोष की आज 50 वीं जयंती है। वह आम आदमी की कहानियों पर यर्थाथवादी फिल्में बनाते थे। उन्हें मिले 12 नेशनल अवॉर्ड इसका सबूत हैं कि उन्होंने बांग्ला फिल्म इंडस्ट्री में कितनी गहरी छाप छोड़ी। उनकी बनाई फिल्म चोखेर बाली कोई कभी नहीं भूल सकता।
    बंगाली फिल्मों के मशहूर डायरेक्टर रितुपर्णो घोष की आज 50 वीं जयंती है। वह आम आदमी की कहानियों पर यर्थाथवादी फिल्में बनाते थे। उन्हें मिले 12 नेशनल अवॉर्ड इसका सबूत हैं कि उन्होंने बांग्ला फिल्म इंडस्ट्री में कितनी गहरी छाप छोड़ी। उनकी बनाई फिल्म चोखेर बाली कोई कभी नहीं भूल सकता।

    Tags: Aishwarya rai, Bipasha basu

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर