लाइव टीवी

पॉलिटिक्स के 10 कंट्रोवर्सी किंग


Updated: March 6, 2015, 5:30 AM IST
पॉलिटिक्स के 10 कंट्रोवर्सी किंग
भारतीय राजनीति में विवादित नेताओं की कमी नहीं। ऐसे नेताओं ने समय-समय पर अपने बयानों से सियासी सनसनी पैदा की है। अधिकतर की छवि बयान बहादुर की बन चुकी है। इनके बोल ने विवाद पैदा करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ विवादित नेताओं के बारे में।

भारतीय राजनीति में विवादित नेताओं की कमी नहीं। ऐसे नेताओं ने समय-समय पर अपने बयानों से सियासी सनसनी पैदा की है। अधिकतर की छवि बयान बहादुर की बन चुकी है। इनके बोल ने विवाद पैदा करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ विवादित नेताओं के बारे में।

  • Last Updated: March 6, 2015, 5:30 AM IST
  • Share this:
भारतीय राजनीति में विवादित नेताओं की कमी नहीं। ऐसे नेताओं ने समय-समय पर अपने बयानों से सियासी सनसनी पैदा की है। अधिकतर की छवि बयान बहादुर की बन चुकी है। इनके बोल ने विवाद पैदा करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ विवादित नेताओं पर।
भारतीय राजनीति में विवादित नेताओं की कमी नहीं। ऐसे नेताओं ने समय-समय पर अपने बयानों से सियासी सनसनी पैदा की है। अधिकतर की छवि बयान बहादुर की बन चुकी है। इनके बोल ने विवाद पैदा करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ विवादित नेताओं पर।
<b><h5 class= बेनी प्रसाद वर्मा: कभी मुलायम सिंह यादव के करीबी रहे बेनी प्रसाद वर्मा ने एक वक्त विवादित बोलों की झड़ी लगा दी थी। उनके आए दिन के बयानों ने कांग्रेस को ही मुश्किल में डाल दिया था। कभी मुलायम पर तो कभी नरेंद्र मोदी पर उनके बयानों ने मर्यादा की सीमा लांघ ली। 19 अगस्त 2012 को बेनी ने कहा, मुलायम सिंह पगला गए हैं, सठिया गए हैं। 9 अगस्त 2012 को बेनी ने कहा, अन्ना हजारे का शनिचर उतर गया है और अब वो बाबा रामदेव पर चढ़ गया है। ये बेकार के लोग हैं, इन्हें बस कुछ काम चाहिए। बेनी ने नरेंद्र मोदी पर भी कई बार भद्दे शब्दों का इस्तेमाल किया।
<b><h5 class= सुब्रमण्यम स्वामी: कभी बीजेपी के घोर विरोधी रहे और वाजपेयी की पहली सरकार गिराने वाले सुब्रमण्यम स्वामी ने भी विवादित बयान देने में कोई कसर नहीं छोड़ी। एक बार उन्होंने कहा, रावण का डीएनए दलित का था। रावण लंका का नहीं यूपी का रहने वाला था । नोएडा के पास स्थित बसरख में पैदा हुआ था। एक बार स्वामी ने कह दिया कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की बेटी प्रियंका गांधी अगर बनारस से चुनाव लड़ती तो वह बुरी तरह से हार जाती क्यों कि वह बहुत शराब पीती हैं,और उनका नाम खराब है। उनके नाम अनगिनत विवादित बयान हैं।
<b><h5 class= दिग्विजय सिंह: कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भी कम विवादित बयान नहीं दिए हैं। कुछ समय पहले दिग्विजय अपने बयानों को लेकर अक्सर सुर्खियों में रहते थे। मध्य प्रदेश में एक रैली के दौरान दिग्विजय ने जुलाई 2013 में मंदसौर की तत्कालीन महिला सांसद मीनाक्षी नटराजन को 100 टका टंच माल कह दिया था। एक बार उन्होंने कहा मुझे मिली जानकारी के मुताबिक 26/11 के पीछे हिंदू कट्टरपंथी संगठनों का हाथ हो सकता है। इसी तरह 2011 में उन्होंने कहा था, ओसामाजी पाक आर्मी बेस के 200 मीटर नजदीक रह रहे थे। फिर भी पाकिस्तान को इसकी कोई भनक क्यों नहीं लगी। दिग्विजय के इस तरह के बयानों पर खूब हंगामा मचा है।
<b><h5 class= अमर सिंह: कभी मुलायम सिंह के बेहद करीबी रहे अमर सिंह ने कई बार विवादित बयान दिए। अमर ने नरेंद्र मोदी से लेकर अमिताभ बच्चन पर हमला किया। अप्रैल 2014 में अमर सिंह ने मोदी की तुलना बकरी से कर डाली। अमर सिंह ने कहा कि मोदी हर जगह मैं-मैं करते हुए घूम रहे हैं, जबकि उन्हें पता होना चाहिए कि मैं-मैं करना तो बकरी का काम है। अमर सिंह हाल में बयान दिया कि बिग बी को पद्म विभूषण दिया जाना दिलीप साहब का अपमान है। बहरहाल, सपा से निकाले जाने के बाद आरएलडी का सफर तय कर चुके अमर सिंह नया ठिकाना ढूंढ़ रहे हैं।
<b><h5 class= नितिन गडकरी: बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भी खूब विवादित बयान दिए हैं। मई 2010 में चंडीगढ़ में एक रैली के दौरान गडकरी ने आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मुलायम सिंह को सोनिया गांधी का कुत्ता कह दिया। इसी तरह अक्टूबर 2014 में महाराष्ट्र में एक चुनाव सभा में गडकरी ने कहा कि जहां से जो मिले, लोग बटोर लें। लक्ष्मी को ना नहीं बोलना, लेकिन वोट बीजेपी को ही देना। लोकसभा चुनाव 2014 के दौरान ही नितिन गडकरी ने बयान दिया कि बिहार के डीएनए में जातिवाद है जिस पर खूब हंगामा मचा।
<b><h5 class= गिरिराज सिंह: बिहार बीजेपी के नेता गिरिराज सिंह ने भी विवादित बयानों से खूब सुर्खियां बटोरीं। लोकसभा चुनाव के दौरान गिरिराज ने कहा था कि जो लोग मोदी का विरोध करते हैं, वो पाकिस्तान की ओर देख रहे हैं, ऐसे लोगों का स्थान पाकिस्तान में है, भारत में नहीं। मई 2014 में गिरिराज ने कहा कि आखिर जितने भी आतंकवादी पकड़े जाते हैं वे सभी एक ही समुदाय के क्यों होते हैं।
<b><h5 class= लालू प्रसाद यादव: बिहार की राजनीति का जिक्र लालू प्रसाद यादव की चर्चा किए बिना नहीं हो सकता। 15 साल तक बिहार की सत्ता संभालने वाले लालू अपने काम से कम और मसखरेपन को लेकर ज्यादा चर्चा में रहे। आम आदमी का प्रतिनिधि बनकर लालू ने बिहार की जनता को खूब बहलाया, पर 2005 में जब उनके हाथ से सत्ता फिसली तो अब तक हाथ नहीं आई। लालू ने खूब विवादित बयान दिए हैं। एक रैली में लालू बोल गए 'नीतीश को मैंने पैदा किया, मुझे नहीं पता था कि नीतीश बबूल निकलेंगे। मैं यह जानता तो गर्म पानी से नीतीश को जला देता'। हालांकि अब दोनों नेता साथ हैं।
<b><h5 class= डेरेक ओ ब्रायन: तृणमूल कांग्रेस सांसद डेरेक ओ ब्रायन भी बयान बहादुरों में शामिल हैं। नरेंद्र मोदी को लेकर उनके बयानों ने भी कई बार मर्यादाओं को तार-तार किया। अप्रैल 2014 में डेरेक ने मोदी को गुजरात का कसाई करार दिया। डेरेक ने ट्वीट किया, गुजरात के कसाई बंगाल में आसमान से उतरे हैं। उनके पास बंगाल के विकास मॉडल का कोई जवाब नहीं है। इसलिए निजी हमले कर रहे हैं। दिसंबर 2014 में उन्होंने मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि पीएम को राज्यसभा में आने लिए वीजा दिया जाना चाहिए।
<b><h5 class= जीतनराम मांझी: बिहार के पूर्व सीएम जीतनराम मांझी लेटेस्ट नेता हैं जिन्होंने एक के बाद एक ऐसे बयानों की झड़ी लगाई कि हर रोज सुर्खियों में रहने लगे। कभी मांझी ने कहा कि थोड़ी बहुत घूस लेने में हर्ज नहीं है तो कभी कहा कि ठेकेदारों-इंजीनियरों की ओर से कमीशन उन्हें भी पहुंचता था। कुछ दिन पहले तो उन्होंने बयान दे डाला कि 90 फीसदी पुरुष पराई महिलाओं के साथ घूमते हैं।
<b><h5 class= आजम खान: सपा नेता आजम खान से ज्यादा विवादित बोल शायद ही और किसी नेता ने दिए हों। आजम आजकल यूपी के राज्यपाल राम नाइक से टकराव को लेकर चर्चा में हैं। आजम ने अनगिनत बार अपने बयानों से विवाद पैदा किया है। अप्रैल 2014 में चुनावी सभा के दौरान आजम खान ने कहा कि करगिल युद्ध में भारत को जीत हिंदू नहीं, मुस्लिम सैनिकों ने दिलाई थी। कुछ समय पहले आजम ने ताजमहल को मकबरा बताते हुए कहा था कि जैसे कि ताजमहल एक मकबरा है, इसलिए हर मकबरा 'वक्फ' है। दिसंबर 2014 में आजम ने आरएसएस और बजरंग दल को आतंकी संगठन बताकर हंगामा खड़ा कर दिया। आजम खान ने दिसंबर 2014 में पीएम की तुलना तानाशाह सद्दाम हुसैन से कर दी। इसी तरह जनवरी 2015 में आजम ने बयान दिया कि उन्नाव के गंगा नदी में मिले 200 शव बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने डाले हैं।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पॉलिटिक्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 21, 2015, 5:00 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर