वर्ल्ड कप की 10 रोचक बातें


Updated: March 6, 2015, 5:39 AM IST
वर्ल्ड कप की 10 रोचक बातें
इन दिनों हर तरफ क्रिकेट का खुमार चढ़ा हुआ है। क्रिकेट के ओलंपिक कहे जाने वाले आईसीसी वर्ल्ड कप का आगाज हो चुका है। हर कोई किसी ना किसी तरीके से वर्ल्ड कप के साथ जुड़ रहा है। लेकिन वर्ल्ड कप के बारे में कई ऐसी रोचक बाते हैं जिनके बारे में आपने शायद ही सुना होगा। हम आपको बता रहे हैं वर्ल्ड कप से जुड़े ऐसे रोचक तथ्य जो आपको हैरान कर देंगे। आगे की स्लाइड्स में देखें वर्ल्ड कप के अनसुने रोचक तथ्य।

इन दिनों हर तरफ क्रिकेट का खुमार चढ़ा हुआ है। क्रिकेट के ओलंपिक कहे जाने वाले आईसीसी वर्ल्ड कप का आगाज हो चुका है। हर कोई किसी ना किसी तरीके से वर्ल्ड कप के साथ जुड़ रहा है। लेकिन वर्ल्ड कप के बारे में कई ऐसी रोचक बाते हैं जिनके बारे में आपने शायद ही सुना होगा। हम आपको बता रहे हैं वर्ल्ड कप से जुड़े ऐसे रोचक तथ्य जो आपको हैरान कर देंगे। आगे की स्लाइड्स में देखें वर्ल्ड कप के अनसुने रोचक तथ्य।

  • Last Updated: March 6, 2015, 5:39 AM IST
  • Share this:
वर्ल्ड कप के इतिहास में सबसे कम स्कोर वाला वर्ल्ड कप था, साल 1979 का वर्ल्ड कप। इस वर्ल्ड कप में सिर्फ दो शतक लगे थे।
वर्ल्ड कप के इतिहास में सबसे कम स्कोर वाला वर्ल्ड कप था, साल 1979 का वर्ल्ड कप। इस वर्ल्ड कप में सिर्फ दो शतक लगे थे।
बांग्लादेश के तल्हा जुबैर सबसे कम उम्र में वर्ल्ड कप खेलने वाले खिलाड़ी हैं। साल 2003 के वर्ल्ड कप में वो शामिल हुए थे और उस समय उनकी उम्र 17 साल और सात दिन के थे।
बांग्लादेश के तल्हा जुबैर सबसे कम उम्र में वर्ल्ड कप खेलने वाले खिलाड़ी हैं। साल 2003 के वर्ल्ड कप में वो शामिल हुए थे और उस समय उनकी उम्र 17 साल और सात दिन के थे।
अभी तक दो खिलाड़ी ऐसे हुए हैं, जिन्होंने दो अलग-अलग देशों की ओर से वर्ल्ड कप के मैच खेले हैं। एंडरसन कमिंस ने साल 1992 में वेस्टइंडीज की ओर से और साल 2007 में कनाडा की ओर से वर्ल्ड कप खेला है। उनके पहले कैपलर वेसल्स ने साल 1983 में ऑस्ट्रेलिया की ओर से और 1992 में दक्षिण अफ़्रीका की ओर से वर्ल्ड कप के मैच खेले थे।
अभी तक दो खिलाड़ी ऐसे हुए हैं, जिन्होंने दो अलग-अलग देशों की ओर से वर्ल्ड कप के मैच खेले हैं। एंडरसन कमिंस ने साल 1992 में वेस्टइंडीज की ओर से और साल 2007 में कनाडा की ओर से वर्ल्ड कप खेला है। उनके पहले कैपलर वेसल्स ने साल 1983 में ऑस्ट्रेलिया की ओर से और 1992 में दक्षिण अफ़्रीका की ओर से वर्ल्ड कप के मैच खेले थे।
वर्ल्ड कप की शानदार पारियों में से एक 1983 में कपिल देव ने जिम्बाब्वे के खिलाफ खेली थी। उनकी 175 रनों की नाबाद पारी की न वीडियो रिकॉर्डिंग मौजूद है और न ऑडियो कमेंट्री। क्योंकि उस दिन कैमरामैन हड़ताल पर थे।
वर्ल्ड कप की शानदार पारियों में से एक 1983 में कपिल देव ने जिम्बाब्वे के खिलाफ खेली थी। उनकी 175 रनों की नाबाद पारी की न वीडियो रिकॉर्डिंग मौजूद है और न ऑडियो कमेंट्री। क्योंकि उस दिन कैमरामैन हड़ताल पर थे।
साल 1996 के वर्ल्ड-कप में ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए श्रीलंका में खेलने से इनकार कर दिया था। ये दोनों मैच श्रीलंका के हक में गए।
साल 1996 के वर्ल्ड-कप में ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए श्रीलंका में खेलने से इनकार कर दिया था। ये दोनों मैच श्रीलंका के हक में गए।
इन दिनों हर तरफ क्रिकेट का खुमार चढ़ा हुआ है। क्रिकेट के ओलंपिक कहे जाने वाले आईसीसी वर्ल्ड कप का आगाज हो चुका है। हर कोई किसी ना किसी तरीके से वर्ल्ड कप के साथ जुड़ रहा है। लेकिन वर्ल्ड कप के बारे में कई ऐसी रोचक बाते हैं जिनके बारे में आपने शायद ही सुना होगा। हम आपको बता रहे हैं वर्ल्ड कप से जुड़े ऐसे रोचक तथ्य जो आपको हैरान कर देंगे। आगे की स्लाइड्स में देखें वर्ल्ड कप के अनसुने रोचक तथ्य।
इन दिनों हर तरफ क्रिकेट का खुमार चढ़ा हुआ है। क्रिकेट के ओलंपिक कहे जाने वाले आईसीसी वर्ल्ड कप का आगाज हो चुका है। हर कोई किसी ना किसी तरीके से वर्ल्ड कप के साथ जुड़ रहा है। लेकिन वर्ल्ड कप के बारे में कई ऐसी रोचक बाते हैं जिनके बारे में आपने शायद ही सुना होगा। हम आपको बता रहे हैं वर्ल्ड कप से जुड़े ऐसे रोचक तथ्य जो आपको हैरान कर देंगे। आगे की स्लाइड्स में देखें वर्ल्ड कप के अनसुने रोचक तथ्य।
वर्ल्ड कप में सबसे धीमी गति से रन बनाने का रिकॉर्ड भारत के लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर के नाम है, जिन्होंने साल 1975 के पहले वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के खिलाफ 174 गेंदों का सामना करते हुए सिर्फ 36 रन बनाए थे।
वर्ल्ड कप में सबसे धीमी गति से रन बनाने का रिकॉर्ड भारत के लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर के नाम है, जिन्होंने साल 1975 के पहले वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के खिलाफ 174 गेंदों का सामना करते हुए सिर्फ 36 रन बनाए थे।
वेस्टइंडीज के विवियन रिचर्ड्स एक ऐसे क्रिकेटर हैं, जिन्होंने वर्ल्ड कप क्रिकेट के साथ-साथ वर्ल्ड कप फुटबॉल में भी हिस्सा लिया है।
वेस्टइंडीज के विवियन रिचर्ड्स एक ऐसे क्रिकेटर हैं, जिन्होंने वर्ल्ड कप क्रिकेट के साथ-साथ वर्ल्ड कप फुटबॉल में भी हिस्सा लिया है।
वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा बार जीरो पर आउट होने का रिकॉर्ड न्यूजीलैंड के नाथन एस्टल और एजाज अहमद के नाम पर है।
वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा बार जीरो पर आउट होने का रिकॉर्ड न्यूजीलैंड के नाथन एस्टल और एजाज अहमद के नाम पर है।
इंग्लैंड के डेनिस एमिस के नाम वर्ल्ड कप में पहला शतक लगाने का रिकॉर्ड है। साल 1975 के वर्ल्ड कप में भारत के ख़िलाफ उन्होंने 137 रनों की पारी खेली थी।
इंग्लैंड के डेनिस एमिस के नाम वर्ल्ड कप में पहला शतक लगाने का रिकॉर्ड है। साल 1975 के वर्ल्ड कप में भारत के ख़िलाफ उन्होंने 137 रनों की पारी खेली थी।
दक्षिण अफ़्रीका के हर्शेल गिब्स वर्ल्ड कप के एक मैच में एक ओवर में छह छक्के मारने वाले एकमात्र खिलाड़ी हैं। उन्होंने 2007 के वर्ल्ड कप में नीदरलैंड्स के खिलाफ ये कारनामा किया था।
दक्षिण अफ़्रीका के हर्शेल गिब्स वर्ल्ड कप के एक मैच में एक ओवर में छह छक्के मारने वाले एकमात्र खिलाड़ी हैं। उन्होंने 2007 के वर्ल्ड कप में नीदरलैंड्स के खिलाफ ये कारनामा किया था।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 5, 2015, 3:55 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...