• Home
  • »
  • News
  • »
  • photo
  • »
  • दूध के साइड इफेक्ट्स!

दूध के साइड इफेक्ट्स!

ये बात तो सभी जानते हैं कि दूध पीना सेहत के लिए अच्छा होता है। दूध में ऐसे कई गुण छुपे होते हैं जो आपकी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। पर क्या आप ये जानते हैं के दूध का ज्यादा सेवन अपनी सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकता है। तस्वीरों में देखें दूध के साइड इफेक्ट्स।

ये बात तो सभी जानते हैं कि दूध पीना सेहत के लिए अच्छा होता है। दूध में ऐसे कई गुण छुपे होते हैं जो आपकी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। पर क्या आप ये जानते हैं के दूध का ज्यादा सेवन अपनी सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकता है। तस्वीरों में देखें दूध के साइड इफेक्ट्स।

ये बात तो सभी जानते हैं कि दूध पीना सेहत के लिए अच्छा होता है। दूध में ऐसे कई गुण छुपे होते हैं जो आपकी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। पर क्या आप ये जानते हैं के दूध का ज्यादा सेवन अपनी सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकता है। तस्वीरों में देखें दूध के साइड इफेक्ट्स।

  • Share this:
    ये बात तो सभी जानते हैं कि दूध पीना सेहत के लिए अच्छा होता है। दूध में ऐसे कई गुण छुपे होते हैं जो आपकी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। पर क्या आप ये जानते हैं के दूध का ज्यादा सेवन अपनी सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकता है। तस्वीरों में देखें दूध के साइड इफेक्ट्स। ये बात तो सभी जानते हैं कि दूध पीना सेहत के लिए अच्छा होता है। दूध में ऐसे कई गुण छुपे होते हैं जो आपकी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। पर क्या आप ये जानते हैं के दूध का ज्यादा सेवन अपनी सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकता है। तस्वीरों में देखें दूध के साइड इफेक्ट्स।रात में दूध: कई लोग रात में दूध पीते हैं और दूध पीते ही सो जाते हैं। अगर आप ऐसा कर रहे हैं तो इसका मतलब है कि आप कई बीमारियों को बुला रहे हैं। इसलिए जब भी आप दूध पीए तो उसके तुरंत बाद न सोएं। दूध पीने के कम से कम दो तीन घंटे के बाद सोएं। रात में दूध: कई लोग रात में दूध पीते हैं और दूध पीते ही सो जाते हैं। अगर आप ऐसा कर रहे हैं तो इसका मतलब है कि आप कई बीमारियों को बुला रहे हैं। इसलिए जब भी आप दूध पीए तो उसके तुरंत बाद न सोएं। दूध पीने के कम से कम दो तीन घंटे के बाद सोएं।एसिड बनता है: हमारे शरीर में अम्ल और क्षार का नियंत्रण में रहना बहुत जरुरी होता है। वहीं दूध और डेयरी के उत्पाद अम्ल बढ़ाते हैं। जो कि आपके शरीर के लिए नुकसानदायक है। इससे एसिड बनता है और आपके सिस्टम को नुकसान पहुंचाता है। एसिड बनता है: हमारे शरीर में अम्ल और क्षार का नियंत्रण में रहना बहुत जरुरी होता है। वहीं दूध और डेयरी के उत्पाद अम्ल बढ़ाते हैं। जो कि आपके शरीर के लिए नुकसानदायक है। इससे एसिड बनता है और आपके सिस्टम को नुकसान पहुंचाता है।इयूमन सिस्टम पर असर: कई लोगों को दूध से एलर्जी भी होती है। यह दूध में मौजूद भारी प्रोटीन का इम्यून सिस्टम में होने वाला रिएक्शन है। दूध में भारी मात्रा में प्रोटीन होता है और उसमें से कुछ आपके सिस्टम के साथ रिएक्शन करते हैँ। इयूमन सिस्टम पर असर: कई लोगों को दूध से एलर्जी भी होती है। यह दूध में मौजूद भारी प्रोटीन का इम्यून सिस्टम में होने वाला रिएक्शन है। दूध में भारी मात्रा में प्रोटीन होता है और उसमें से कुछ आपके सिस्टम के साथ रिएक्शन करते हैँ।एसिडिटी: दूध कई बीमारियों को दूर करता है, लेकिन ये कई बीमारियों को न्यौता भी देता हैं। कई लोगों को दूध की वजह से एसिडिटी होती है और इसकी वजह से कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। एसिडिटी: दूध कई बीमारियों को दूर करता है, लेकिन ये कई बीमारियों को न्यौता भी देता हैं। कई लोगों को दूध की वजह से एसिडिटी होती है और इसकी वजह से कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।दूध में चीनी: कई लोग दूध पीते हैं, लेकिन वो दूध के साथ चीनी भी लेते हैं। वो दूध में चीनी मिलाकर पीते हैं। इससे शरीर में जलन और ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस की समस्या होती है। साथ ही ये भी बताया जाता है कि इसकी वजह से कोशिकाओं को भी नुकसान होता है। अगर आप दूध पीते हैं तो उसमें चीनी की मात्रा बिल्कुल कम रखें। दूध में चीनी: कई लोग दूध पीते हैं, लेकिन वो दूध के साथ चीनी भी लेते हैं। वो दूध में चीनी मिलाकर पीते हैं। इससे शरीर में जलन और ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस की समस्या होती है। साथ ही ये भी बताया जाता है कि इसकी वजह से कोशिकाओं को भी नुकसान होता है। अगर आप दूध पीते हैं तो उसमें चीनी की मात्रा बिल्कुल कम रखें।हड्डियां टूटने का डर: कई शोध के अनुसार जो महिलाएं एक दिन में तीन ग्लास से ज्यादा दूध पीती हैं उनकी हडि्डयों के टूटने की संभावना अधिक होता है। बताया गया है कि ज्यादा दूध पीने वालों में मौत का खतरा भी अधिक था। ऐसे नतीजे दूध में चीनी की मात्रा की वजह से भी दिख सकते हैं। हड्डियां टूटने का डर: कई शोध के अनुसार जो महिलाएं एक दिन में तीन ग्लास से ज्यादा दूध पीती हैं उनकी हडि्डयों के टूटने की संभावना अधिक होता है। बताया गया है कि ज्यादा दूध पीने वालों में मौत का खतरा भी अधिक था। ऐसे नतीजे दूध में चीनी की मात्रा की वजह से भी दिख सकते हैं।मांसाहार: वैसे तो दूध का इस्तेमाल कई धार्मिक कार्यों में किया जाता है, लेकिन कई शोधकर्ताओं का कहना है कि दूध मांसाहार होता है। उनका कहना है कि दूध जानवर के पेट से उसके मांस आदि से मिलकर बनता है। साथ ही ये जानवर के बच्चों के लिए होता है। इसलिए मां का दूध ही पीना चाहिए। मांसाहार: वैसे तो दूध का इस्तेमाल कई धार्मिक कार्यों में किया जाता है, लेकिन कई शोधकर्ताओं का कहना है कि दूध मांसाहार होता है। उनका कहना है कि दूध जानवर के पेट से उसके मांस आदि से मिलकर बनता है। साथ ही ये जानवर के बच्चों के लिए होता है। इसलिए मां का दूध ही पीना चाहिए।

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज