माल्या का लग्जरी प्लेन बना कबाड़


Updated: April 21, 2015, 10:41 AM IST
माल्या का लग्जरी प्लेन बना कबाड़
मशहूर उद्योगपति विजय माल्या के ऐशोआराम का प्रतीक रहा उनका 11 सीटों वाला प्लेन बिक गया है। किंगफिशर एयरलाइंस के बंद होने के बाद अपना बकाया वसूलने के लिए मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड ने इस जेट प्लेन को 22 लाख रुपये में बेच दिया है। खरीदने वाली कंपनी अब इसे कबाड़ में बदल रही है। आगे की तस्वीरों में देखिए कैसे कबाड़ में बदला जा रहा है इसे।

Updated: April 21, 2015, 10:41 AM IST
मशहूर उद्योगपति विजय माल्या  के ऐशोआराम का प्रतीक रहा उनका 11 सीटों वाला प्लेन बिक गया है। किंगफिशर एयरलाइंस के बंद होने के बाद अपना बकाया वसूलने के लिए मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड ने इस जेट प्लेन को 22 लाख रुपये में बेच दिया है। खरीदने वाली कंपनी अब इसे कबाड़ में बदल रही है। आगे की तस्वीरों में देखिए कैसे कबाड़ में बदला जा रहा है इसे।
मशहूर उद्योगपति विजय माल्या के ऐशोआराम का प्रतीक रहा उनका 11 सीटों वाला प्लेन बिक गया है। किंगफिशर एयरलाइंस के बंद होने के बाद अपना बकाया वसूलने के लिए मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड ने इस जेट प्लेन को 22 लाख रुपये में बेच दिया है। खरीदने वाली कंपनी अब इसे कबाड़ में बदल रही है। आगे की तस्वीरों में देखिए कैसे कबाड़ में बदला जा रहा है इसे।
माल्या के इस जेट प्लेन को कुर्ला इलाके की एक कंपनी ने खरीदा है। कंपनी का कहना है कि जेट को तोड़कर कबाड़ में बेचने पर उसे मुनाफा होगा। 6 अप्रैल से मजदूर इस जेट को तोड़ने का काम कर रहे हैं।
माल्या के इस जेट प्लेन को कुर्ला इलाके की एक कंपनी ने खरीदा है। कंपनी का कहना है कि जेट को तोड़कर कबाड़ में बेचने पर उसे मुनाफा होगा। 6 अप्रैल से मजदूर इस जेट को तोड़ने का काम कर रहे हैं।
कंपनी के अधिकारियों के मुताबिक इंजन को तोड़ना सबसे मुश्किल काम है। इस जेट से 6.5 टन स्क्रैप मेटल हासिल होगा। जेट को तोड़ने के बाद इसे कुर्ला के खैरानी रोड ले जाया जाएगा जहां कंपनी के यार्ड में इसे डंप कर दिया जाएगा।
कंपनी के अधिकारियों के मुताबिक इंजन को तोड़ना सबसे मुश्किल काम है। इस जेट से 6.5 टन स्क्रैप मेटल हासिल होगा। जेट को तोड़ने के बाद इसे कुर्ला के खैरानी रोड ले जाया जाएगा जहां कंपनी के यार्ड में इसे डंप कर दिया जाएगा।
ये प्लेन करीब 30 साल पुराना है और इसका वजन 11 हजार 590 किलो है। माल्या की कंपनी यूनाइटेड स्पिरिट ने 2005 में इसे ओबेरॉय ग्रुप से खरीदा था।
ये प्लेन करीब 30 साल पुराना है और इसका वजन 11 हजार 590 किलो है। माल्या की कंपनी यूनाइटेड स्पिरिट ने 2005 में इसे ओबेरॉय ग्रुप से खरीदा था।
विजय माल्या लगातार विवादों में रहे हैं। जोर-शोर से शुरू की गई किंगफिशर एयरलाइंस दो साल पहले संकट में घिर गई और उसके कर्मचारियों को वेतन के लाले पड़ गए।
विजय माल्या लगातार विवादों में रहे हैं। जोर-शोर से शुरू की गई किंगफिशर एयरलाइंस दो साल पहले संकट में घिर गई और उसके कर्मचारियों को वेतन के लाले पड़ गए।
एयरपोर्ट के किराए और दूसरे बकाए का भुगतान करने में कंपनी के नाकाम रहने पर  दिसंबर 2012 को एमआईएएल ने 8 विमानों को जब्त कर लिया था, ये उन्हीं में से एक था।
एयरपोर्ट के किराए और दूसरे बकाए का भुगतान करने में कंपनी के नाकाम रहने पर दिसंबर 2012 को एमआईएएल ने 8 विमानों को जब्त कर लिया था, ये उन्हीं में से एक था।
संकट के बावजूद माल्या आईपीएल टीम आरसीबी पर पैसा पानी की तरह बहाते रहे जिस पर उनकी खूब आलोचना हुआ।
संकट के बावजूद माल्या आईपीएल टीम आरसीबी पर पैसा पानी की तरह बहाते रहे जिस पर उनकी खूब आलोचना हुआ।
First published: April 16, 2015
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर