कानपुर: मुंह में गुटखा दबा बिना मास्क लोगों का काट रहा था चालान, पुलिस अफसर की पड़ी नजर तो...

मुंह में गुटखा दबा बिना मास्क लोगों का काट रहा था चालान

मुंह में गुटखा दबा बिना मास्क लोगों का काट रहा था चालान

सीओ (CO) ट्रैफिक त्रिपुरारी पांडे ने बताया नियम और कानून सबके लिए एक समान है. इस कोरोना काल में मास्क लगाना अनिवार्य है.

  • Share this:

कानपुर. पूरा देश कोरोना (Coronavirus) के खात्मे की लड़ाई में जुटा हुआ है. इसी बीच कानपुर (Kanpur) में ट्रैफिक पुलिस (Traffic Police) के सीओ ने ड्यूटी पर मौजूद ट्रैफिक कॉन्स्टेबल का चालान काट दिया. सीओ ट्रैफिक की इस कार्रावाई के बाद पुलिस महकमे में चर्चा बनी हुई है. दरअसल नौबस्ता बाईपास पर ट्रैफिक कॉन्स्टेबल अपनी ड्यूटी के दौरान वाहन चेकिंग कर रहे थे. बिना हेलमेट और मास लगाएं दुपहिया वाहन चालकों का चालान काटते वक्त वह इस बात को भूल गए कि मास्क लगाना अनिवार्य है.

इस दौरान वहां से गुजर रहे क्षेत्राधिकारी यातायात त्रिपुरारी पांडे की नजर जब यातायात पुलिसकर्मी में पड़ी तो उन्होंने देखा कि ट्रैफिक का सिपाही नियम तोड़ने वालों के चालान काट रहा है. और खुद उसने मास्क नहीं लगाया है. जिसके बाद क्षेत्राधिकारी यातायात त्रिपुरारी सिपाही जितेंद्र बहादुर के पास पहुंचा और मास्क ना होने की वजह पूछी उचित जवाब नहीं देने पर क्षेत्राधिकारी ने खुद उसका चालान काट दिया.

चालान की प्रति
चालान की प्रति



ये भी पढे़ं- UPPSC PCS Main 2018 का रिजल्ट घोषित, 2670 अभ्यर्थियों ने मारी बाजी
जिससे वहां ड्यूटी पर मौजूद अन्य पुलिसकर्मी सकते में आ गए. सीओ ट्रैफिक त्रिपुरारी पांडे ने बताया नौबस्ता थाना क्षेत्र में कहीं जाम लगा हुआ है. जिसके बाद वह जाम खुलवाने के लिए नौबस्ता बाईपास पहुंचे. जहां जाम नहीं लगा था मगर ट्रैफिक की ड्यूटी कर रहे ट्रैफिक कांस्टेबल बिना मास्क लगाए दो पहिया वाहन चालकों के चालान काट रहे थे. क्षेत्राधिकारी उस सिपाही के नजदीक तो वह मुंह में पान मसाला चबा रहा था और उससे मास्क ना लगाने की वजह पूछी जिस पर उचित जवाब ना मिलने पर तत्काल उसका चालान काट दिया.

Youtube Video

ये भी पढे़ं- UP: अब केवल दो हथियार ही रख सकेंगे लाइसेंसधारक, बाकी को करना होगा थाने में सरेंडर

क्षेत्राधिकारी ने बताया कि नियम और कानून सबके लिए एक समान है. इस कोरोना काल में मास्क लगाना अनिवार्य है. जिसका हर व्यक्ति ने पालन करना चाहिए और खासकर कानून का पालन करने वाले यदि कानून को तोड़ेंगे तो अन्य लोगों के बीच इसका क्या संदेश जाएगा. हालांकि जिस ट्रैफिक सिपाही का चालान काटा बिना कुछ बात किए हुए ड्यूटी प्वाइंट से चला गया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज