Home /News /politics /

अब चिदंबरम तक पहुंची 2जी घोटाले की आंच

अब चिदंबरम तक पहुंची 2जी घोटाले की आंच

गृहमंत्री पी चिदंबरम के आभामंडल पर घोटाले का ग्रहण लग गया है।

    नई दिल्ली। गृहमंत्री पी चिदंबरम के आभामंडल पर घोटाले का ग्रहण लग गया है। मुख्य विपक्षी दल बीजेपी की मानें तो पी चिदंबरम पौने दो लाख करोड़ के टेलीकॉम घोटाले के लिए वैसे ही जिम्मेदार हैं जैसे कि ए राजा। पार्टी की मांग है कि सीबीआई को उनकी भूमिका की जांच करनी चाहिए।

    बीजेपी ने लगातार दूसरे दिन चिदंबरम पर निशाना साधा। एक दिन पहले यानी मंगलवार को पार्टी ने इसी मसले पर उनका इस्तीफा मांगा था। उसका कहना है कि कारपोरेट लाबीस्ट नीरा राडिया और पूर्व टेलीकॉम मंत्री ए राजा की बातचीत के जो टेप सामने आए हैं, उससे साफ जाहिर है कि चिदंबरम ने भी लक्ष्मी दर्शन किए थे। उन्होंने बतौर वित्तमंत्री 2007 में 2001 की कीमत पर स्पैक्ट्रम आवंटन को हरी झंडी दी थी। बहरहाल, मसला राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप भर का नहीं है। इसी मामले को लेकर जनता पार्टी के अध्यक्ष सुब्रह्मण्यम स्वामी ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है जहां गर्मी की छुट्टियों के बाद सुनवाई होगी।

    वैसे चिदंबरम की भूमिका को लेकर पहले भी सवाल उठते रहे हैं। घोटाले पर मचे शोर के बीच प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जब संपादकों से रूबरू हुए थे तो उन्होंने साफ कहा था कि सारा मामला वित्त मंत्रालय देख रहा था। यानी इशारों-इशारों में प्रधानमंत्री ने भी चिंदबरम की ओर उंगली उठाई थी।
    मुरली मनोहर जोशी की अध्यक्षता में बनी पीएसी की विवादित रिपोर्ट में कहा गया है कि बतौर वित्तमंत्री पी चिदंबरम ने प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखकर कहा था कि मामले को खत्म समझा जाए। प्रधानमंत्री मूक दर्शक बने रहे।

    जाहिर है, पी चिदंबरम बुरी तरह घिर गए हैं। इससे पहले तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता भी चिदंबरम से इस्तीफा मांग चुकी हैं। यानी चिदंबरम अपने राजनीतिक जीवन के सबसे बड़े खतरे के सामने हैं। राजनीतिक घेरेबंदी से तो शायद वे निकल भी जाएं, लेकिन अगर सुप्रीमकोर्ट की आंख टेढ़ी हुई तो उनकी राह कठिन हो सकती है।

    Tags: 2G scam, BJP

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर