Home /News /politics /

चिदंबरम सहआरोपी बनेंगे या नहीं, फैसला अब 4 को

चिदंबरम सहआरोपी बनेंगे या नहीं, फैसला अब 4 को

पटियाला हाउस कोर्ट में गृहमंत्री पी चिदंबरम को सहआरोपी बनाने के मामले में सुनवाई पूरी हो चुकी है। इस पर फैसला अब 4 फरवरी को सुनाया जाएगा।

    नई दिल्ली। पटियाला हाउस कोर्ट में गृहमंत्री पी चिदंबरम को सहआरोपी बनाने के मामले में सुनवाई पूरी हो चुकी है। इस पर फैसला अब 4 फरवरी को सुनाया जाएगा। कोर्ट से बाहर आने के बाद स्वामी ने कहा कि चिदंबरम को पता था कि उनको और ए राजा के साथ मिल कर स्पैक्ट्रम के दाम तय करने हैं।
    उन्होंने कहा कि चिदंबरम को पता था कि घोषणा करने से पहले ही राजा 1 हजार 6 सौ 50 करोड़ रुपए की एंट्री फीस चार्ज करने वाले हैं। अधिकारियों ने चिदंबरम से कहा कि आप हस्तक्षेप कीजिए नहीं तो देश की राजस्व आय में काफी नुकसान होगा। मैंने जो दस्तावेज प्रस्तुत किए उसने पता चलता है कि चिदंबरम ने 15 जनवरी 2008 को प्रधानमंत्री को लिखा कि इस पर आगे बहस नहीं होनी चाहिए।
    उन्होंने कहा कि मैंने जो दस्तावेज पेश किए हैं उसमें राजा ने अपने अधिकारियों को लिखा है कि चिंदंबरम ने मुझे समझाया कि स्वॉन टेलीकॉम और यूनिटेक को लाइसेंस तो नहीं बेच सकते हैं पर कंपनी तो बेच सकते हैं। उसके साथ लाइसेंस चला जाए तो तुम्हारा क्या कसूर है। स्वामी ने कहा कि ये बेईमानी राजा को चिदंबरम ने सिखाई। उन्होंने कहा कि राजा छोटा उस्ताद था और चिदंबरम बड़ा उस्ताद था।
    उल्लेखनीय है कि 2जी मामले में 19 व्यक्ति व छह कंपनियों को आरोपी बनाया गया है। इस घोटाले में 1.76 लाख करोड़ रुपये के राजस्व का नुकसान होने का अनुमान लगाया गया है। राजा और पूर्व केंद्रीय दूरसंचार सचिव सिद्धार्थ बेहुरा को छोड़कर सभी आरोपी जमानत पर रिहा कर दिए गए हैं।

    Tags: 2G scam, A Raja, Subramanian swamy, Telecom scam

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर