'सिंचाई घोटाला NCP की छवि खराब करने की कोशिश'

News18India
Updated: September 30, 2012, 11:19 AM IST
'सिंचाई घोटाला NCP की छवि खराब करने की कोशिश'
पार्टी के खिलाफ षडयंत्र अभियान चलाने वालों पर हमला बोलते हुए पवार ने कहा कि आरोपों के बाद उन्होंने खुद पद से इस्तीफा दिया था। उन्होंने कहा कि किसी ने मुझसे इस्तीफा नहीं मांगा। लेकिन मैंने खुद इस्तीफा दे दिया।
News18India
Updated: September 30, 2012, 11:19 AM IST
मुंबई। महाराष्ट्र के पूर्व उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने कहा कि उनके खिलाफ हथियार बनाया गया सिंचाई घोटाला एनसीपी की छवि खराब करने की कोशिश है। पवार ने साथ ही यह भी कहा कि कोयला घोटाले से ध्यान भटकाने के लिए सिंचाई घोटाला सामने लाया गया।उपमुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद रविवार को यहां अपनी पहली रैली को सम्बोधित करते हुए पवार ने कहा कि सिंचाई घोटाला हमारे खिलाफ षडयंत्र है। हमारी छवि को नुकसान पहुंचाने की कोशिश है।

पार्टी के खिलाफ षडयंत्र अभियान चलाने वालों पर हमला बोलते हुए पवार ने कहा कि आरोपों के बाद उन्होंने खुद पद से इस्तीफा दिया था। उन्होंने कहा कि किसी ने मुझसे इस्तीफा नहीं मांगा। लेकिन मैंने खुद इस्तीफा दे दिया। इस्तीफा मैंने इसलिए दिया ताकि कथित घोटाले की निष्पक्ष जांच हो सके।

मालूम हो कि सिंचाई घोटाले में अपना नाम सामने आने के बाद पवार ने इस्तीफा दे दिया था, जिसे पार्टी प्रमुख शरद पवार ने स्वीकार कर लिया था। उप मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफे के बाद रविवार को अजीत पवार की ये पहली रैली थी। अजीत पवार ने रैली में इस्तीफे पर सफाई दी और कहा कि उनसे किसी ने इस्तीफा नहीं मांगा था। आरोप लगाए जाने के बाद उन्होंने खुद इस्तीफा दे दिया। जानकारों का कहना है कि अजीत पवार कांग्रेस के नेताओं पर लगने वाले आरोपों और उनकी तरफ से इस्तीफा नहीं दिए जाने को जनता के बीच मुद्दा बनाने की कोशिश कर रहे हैं।


First published: September 30, 2012
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर