• Home
  • »
  • News
  • »
  • politics
  • »
  • बढ़े हुए किराए का जनता बुरा नहीं मानेगी: रेल मंत्री

बढ़े हुए किराए का जनता बुरा नहीं मानेगी: रेल मंत्री

रेल मंत्री पवन बंसल का कहना है कि जनता इस बढ़े हुए किराए का बुरा नहीं मानेगी। बढ़े किराए के जरिए जनता को अच्छी सर्विस दी जाएगी।

रेल मंत्री पवन बंसल का कहना है कि जनता इस बढ़े हुए किराए का बुरा नहीं मानेगी। बढ़े किराए के जरिए जनता को अच्छी सर्विस दी जाएगी।

रेल मंत्री पवन बंसल का कहना है कि जनता इस बढ़े हुए किराए का बुरा नहीं मानेगी। बढ़े किराए के जरिए जनता को अच्छी सर्विस दी जाएगी।

  • Share this:
    नई दिल्ली। केंद्रीय रेल मंत्री पवन बंसल ने रेल बजट से पहले ही रेल किराए में बढ़ोत्तरी का ऐलान कर दिया। रेल किराए में 2 पैसे प्रति किमी से 10 पैसे प्रति किमी तक की बढ़ोत्तरी की है। नए रेल किराए की दरें 21 जनवरी से लागू हो जाएंगी। ऐसे में लोगों को दिल्ली से मुंबई जाना या फिर किसा और जगह जाना काफी महंगा पड़ेगा।

    ऐसे में अगर आपने स्लीपर क्लास का टिकट लिया है तो पहले आपको इसके लिए 378 रुपए देने पड़ते थे। लेकिन अब ये 465 रुपए का पड़ेगा। यानि तकरीबन 87 रुपए महंगा। अगर आपने दिल्ली से मुंबई के लिए एसी थ्री का टिकट लिया तो पहले ये आपको 1247 रुपए का पड़ता था। लेकिन अब ये 1450 रुपए का पड़ेगा। यानि 203 रुपए की भारी भरकम बढ़ोतरी।

    अगर आपको एसी 2 से दिल्ली से मुंबई जाना है तो पहले आप देते थे 1937 रुपए। लेकिन अब देना होगा 2006 रुपए यानि 69 रुपए की बढ़ोतरी। अगर आप एसी फर्स्ट क्लास से दिल्ली से मुंबई जाना चाहते हैं तो पहले आप देते थे 3357 लेकिन अब आपको देना होगा 3555 यानि 198 रुपए ज्यादा।

    रेल मंत्री पवन बंसल का कहना है कि जनता इस बढ़े हुए किराए का बुरा नहीं मानेगी। बढ़े किराए के जरिए जनता को अच्छी सर्विस दी जाएगी। और जनता उनकी अच्छी सर्विस देखकर उन्हें ही वोट देगी।

    रेल बजट से पहले अचानक रेल किराए में हुई बढ़ोत्तरी पर विपक्ष का कहना है कि इस बढ़ोत्तरी से जनता की परेशानी बढ़ेंगी। बीजेपी के नेता रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि जनता और परेशान होगी। सरकार इतनी प्राथमिकता से अगर भ्रष्टाचार में डूबे पैसे वापस लाने की बात करती तो ज्यादा फायदा होता।

    उन्होंने कहा कि कीमतें हर चीज की बढ़ रही हैं। कोई एक चीज होती तो जनता बर्दाश्त भी कर लेती। लेकिन यहां तो आम आदमी हर तरफ से मार खा रहा है। रसोईं गैस, पेट्रोल, डीजल, खाना, कपड़ा, बच्चों के स्कूल की फीस, घर का किराया, मकान की ईएमआई सरकार के टैक्स। हर चीज में बढ़ोत्तरी आखिर जनता कैसे बर्दाश्त कर सकती है। क्या सरकार के पास इसका जवाब है।

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज