भगवा आतंक पर आगबबूला हुई BJP, शिंदे से मांगा इस्तीफा

बीजेपी ने शिंदे के बयान पर सोनिया से माफी मांगने की मांग की है। इसके अलावा पार्टी ने शिंदे के खिलाफ 24 जनवरी को विरोध-प्रदर्शन का भी ऐलान किया है।
बीजेपी ने शिंदे के बयान पर सोनिया से माफी मांगने की मांग की है। इसके अलावा पार्टी ने शिंदे के खिलाफ 24 जनवरी को विरोध-प्रदर्शन का भी ऐलान किया है।

बीजेपी ने शिंदे के बयान पर सोनिया से माफी मांगने की मांग की है। इसके अलावा पार्टी ने शिंदे के खिलाफ 24 जनवरी को विरोध-प्रदर्शन का भी ऐलान किया है।

  • Share this:
नई दिल्ली। आरएसएस पर गृहमंत्री सुशील शिंदे के बयान से सियासी गलियारों में हलचल मच गई है। आरएसएस के अलावा बीजेपी ने भी शिंदे के बयान पर उन्हें आड़े हाथों लेते हुए उनके इस्तीफे की मांग की है। बीजेपी ने शिंदे के बयान पर सोनिया से माफी मांगने की भी मांग की है। इसके अलावा पार्टी ने शिंदे के खिलाफ 24 जनवरी को विरोध-प्रदर्शन का भी ऐलान किया है।

बीजेपी नेता अरुण जेटली ने कहा कि इस देश में अगर आतंकवाद बढ़ा है तो वो यूपीए सरकार की नीतियों की वजह से बढ़ा है। यही वजह है कि जिस व्यक्ति ने पार्लियामेंट पर हमला किया और जिसे मौत की सजा भी सुनाई गई, उसे फांसी देने में गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे के हाथ कांपते हैं। पोटा जैसा कानून भी इन्होंने ही हटाया है। मैं सुशील कुमार शिंदे से कहूंगा कि ऐसा बयान देने के बाद या तो वो इस बात का सबूत दें, वर्ना अपना बयान वापस लेकर माफ़ी मांगें।

बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सुशील कुमार शिंदे गृह मंत्री के रूप में बहुत ही हल्का काम करते हैं और हल्का बोलते भी हैं। यह एक बहुत ही घटिया बयान है। यह हिंदू और भारत की विरासत का मजाक है। हिंदू से आतंकवाद को जोड़ने का क्या मतलब है। भगवा तो देश की आत्मा में बसा हुआ है, ये राष्ट्रीय झंडे में भी है।



उन्होंने ऐलान किया कि 24 जनवरी को देश भर में बीजेपी का देशव्यापी आंदोलन होगा। हम लोग मांग करते हैं कि सोनिया और मनमोहन इस बयान के लिए माफी मांगें और शिंदे को उनके पद से बर्खास्त किया जाए। रविशंकर ने कहा कि सोनिया गांधी के सामने शिंदे जी ने यह कहा और वो देखती रहीं। मैं सोनिया जी से पूछना चाहूंगा कि क्या उन्हें शिंदे का बयान सही लगता है? हमारी मांग है कि सुशील कुमार शिंदे को हटाया जाए। वहीं बीजेपी नेता तरुण विजय ने ट्वीट कर कहा कि हमारे गृहमंत्री सैनिकों की जान और मान की रक्षा नहीं कर पाते हैं, उल्टा देशभक्तों को निशाना बनाते हैं। हाफिज सईद इससे ज्यादा और क्या चाहता होगा।
आरएसएस ने भी शिंदे पर हमला बोला है। आरएसस नेता राम माधव ने कहा कि लश्कर ए तोयबा औऱ जमात उद दावा जैसे संगठन गृह मंत्री की वाहवाही कर रहे हैं। शिंदे ने गृह मंत्री के पद पर बैठकर हिंदुओं को आतंकवादी घोषित करने का निंदनीय काम किया है। ये हेट स्पीच उन्होंने अपने नेताओं को खुश करने के लिए दी है या फिर वोट बटोरने के लिए, हमें नहीं मालूम। लेकिन इससे पूरा देश आहत है। ज़िहादी आतंकवाद को काबू करने में नाकाम यूपीए सरकार अब हिंदुओं को आतंकी घोषित कर रही है।

राम माधव ने कहा कि दिग्विजय जैसे लोगों के बयान पर हमें कुछ नया नहीं लगता है। वो तो बहुत समय से यही बोल रहे हैं। उनके लिए हाफ़िज़ सईद, हाफ़िज़ जी हो जाते हैं। ओसामा, ओसामा साहब हो जाते हैं। वो तो हमेशा से आतंकवादियों का साथ दे रहे हैं। हां, पर एक ऐसे व्यक्ति ने जिसने गृह मंत्री जैसे जिम्मेदार पद की गरिमा का भी मजाक उड़ाया है, उसका हमें बहुत दुख है।


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज