• Home
  • »
  • News
  • »
  • politics
  • »
  • हिन्दू आतंकवाद: केंद्र पर जारी रहेगा BJP का आक्रमण

हिन्दू आतंकवाद: केंद्र पर जारी रहेगा BJP का आक्रमण

मंगलवार को दिल्ली में संघ और बीजेपी के शीर्ष नेताओं की बीच हुई करीब साढ़े चार घन्टों की बैठक में ये रणनीति बनी। दरअसल संघ को डर है कि अफजल और कसाब की फांसी के बाद हिन्दू आतंकवाद से जुड़े मामलों में संघ नेताओं पर शिकंजा और कसेगा।

  • Share this:
    नई दिल्ली। संसद पर हमले के आरोपी अफजल गुरू की फांसी के बावजूद बीजेपी आतंकवाद के मुद्दे पर सरकार के खिलाफ और आक्रमक होगी। मंगलवार को दिल्ली में संघ और बीजेपी के शीर्ष नेताओं की बीच हुई करीब साढ़े चार घन्टों की बैठक में ये रणनीति बनी। दरअसल संघ को डर है कि अफजल और कसाब की फांसी के बाद हिन्दू आतंकवाद से जुड़े मामलों में संघ नेताओं पर शिकंजा और कसेगा। लिहाज़ा ये फैसला हुआ कि बीजेपी इस मुद्दे पर सरकार के खिलाफ संसद से लेकर सड़क तक आन्दोलन चलाएगी।

    अफज़ल गुरु की फांसी के बावजूद बीजेपी गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे पर हमले बंद नहीं करेगी। बीजेपी और संघ के शिविरों में आतंक के ट्रेनिंग कैंप वाले बयान को बीजेपी बजट सत्र के दौरान संसद से सड़क तक जोर-शोर से उठाएगी। ये फैसला मंगलवार को दिल्ली में संघ और बीजेपी के टॉप लीडरों की बैठक में हुआ। बैठक में संघ की तरफ से भैया जी जोशी, दत्तात्रेय होसबोले, सुरेश सोनी और मदनदास देवी भी मौजूद थे। बैठक में ये भी तय हुआ कि पार्टी यासीन मालिक और आतंकी हाफ़िज़ सईद की इस्लामाबाद में मुलाकात का मुद्दा उठाएगी। इसके जरिए पार्टी साबित करने की कोशिश करेगी कि आतंकवाद पर यूपीए सरकार का रवैया दोहरा है। पार्टी बीस फरवरी को पीएम आवास घेरने का ऐलान पहले ही कर चुकी है। इसके अलावा संघ से जुड़े दूसरे संगठन भी इस लड़ाई में कूदेंगे। संसद में शिंदे के बहिष्कार का फैसला बजट सत्र के पहले बीजेपी कोर ग्रुप की बैठक में होगा।

    दरअसल संघ परिवार को आशंका है कि सरकार हिन्दू आतंकवाद के मसले पर अब उसके नेताओं और कार्यकर्ताओं के खिलाफ शिकंजा कसेगी। समझौता ब्लास्ट, मालेगांव और मक्का मस्जिद धमाके में संघ परविर से जुड़े लोगों के नाम सामने आए हैं। सूत्रों के मुताबिक़ बैठक में 2014 चुनाव के लिए प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के नाम पर भी चर्चा हुई। हालांकि इस मसले पर कोई फैसला नहीं हो पाया। बैठक के बाद अधयक्ष राजनाथ सिंह ने इस सवाल पर बोलने से भी परहेज़ किया।

    राजनाथ सिंह के अध्यक्ष बनने के बाद संघ के शीर्ष नेतृत्व के साथ बीजेपी नेताओं की ये दूसरी समन्वय बैठक थी। सूत्रों के मुताबिक संघ ने राजनाथ सिंह से कहा है की वो राजनैतिक फैसले लेते वक्त दबाव में न आएं। संघ का इशारा नरेंद्र मोदी को जल्द प्रधानमंत्री उम्मीदवार घोषित करने की मांग की ओर है।

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज