Home /News /politics /

डरकर मैं अमेठी छोड़ने वाला नहीं: विश्वास

डरकर मैं अमेठी छोड़ने वाला नहीं: विश्वास

अमेठी में आम आदमी पार्टी की रैली के दौरान जब कुमार विश्वास मंच से भाषण दे रहे थे, तब रैली में मौजूद लोगों ने उनका विरोध करना शुरू कर दिया। विरोध करने वालों में से कई ने टोपी पहन रखी थी।

    लखनऊ/अमेठी। आम आदमी पार्टी (आप) नेता कुमार विश्वास ने रविवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के गढ़ अमेठी में हुंकार भरी और कहा कि उनके ऊपर चाहे जितने लाठी-डंडे चलाए जाएं, वह अमेठी का मैदान छोड़कर जाने वाले नहीं हैं। गौरीगंज के रामलीला मैदान में आयोजित जनविश्वास रैली को संबोधित करते हुए कुमार विश्वास ने कहा कि अगर कांग्रेस के लोगों को गलतफहमी है कि वे काले झंडे दिखाएंगे और डंडे चलाएंगे तो मैं अमेठी का मैदान छोड़ दूंगा। तो मैं ये साफ किए देता हूं कि मैं चुनाव तक अमेठी में ही रहूंगा।

    विरोध-प्रदर्शनों को कांग्रेस प्रायोजित बताते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस के लोग चाहे जितने काले झंडे दिखाएं या मारें। हर रोज आप के 1000 वोट बढ़ेंगे। उन्होंने मुस्लिम धर्मगुरु इमाम हुसैन को लेकर पूर्व में एक कवि सम्मेलन में कही बात के लिए एक बार फिर माफी मांगी।

    विश्वास ने कहा कि जिन बातों को उठाकर उनका विरोध कराया जा रहा है वे दस साल पुरानी हैं। लेकिन अब उन बातों को साजिशन उठाया जा रहा है, क्योंकि महलों की नींव हिलने लगी हैं। उन्होंने कहा कि हमारा कभी चुनाव लड़ने का इरादा नहीं था, लेकिन इन राजनीतिक दलों ने जब हमें ललकारा, तब हम राजनीति में आए। उन्होंने कहा कि मैं एक लालच के साथ राजनीति में आया हूं कि जब वृद्धावस्था में मेरा पोता मुझसे पूछे तो उसे गर्व से कह सकूं कि मैंने आजादी की 'दूसरी लड़ाई' में लाठियां खाईं।

    विश्वास ने ने पार्टी कार्यकर्ताओं से हिम्मत न हारने की अपील करते हुए कहा कि आप लोग हौसला मत हारना। अभी तो ये पहला दौरा था। अभी तो विरोधी और बौखलाएंगे और अधिक हरकतें की जाएंगी। हम पिटेंगे, मगर किसी पर हाथ नहीं उठाएंगे। विश्वास ने रैली के दौरान काले झंडे दिखाकर नारे लगाने वाले लोगों से कहा कि आप लोगों ने राहुल गांधी को कभी काले झंडे नहीं दिखाए, जिन्होंने अमेठी की समस्या को लेकर, कांग्रेस नीत केंद्र सरकार में हुए विभिन्न घोटालों को लेकर संसद में कभी मुंह नहीं खोला।

    उन्होंने कहा कि मैं अपनी मर्जी से यहां चुनाव लड़ने नहीं आया। यहां के लोगों ने मुझे राहुल गांधी के खिलाफ लड़ने को कहा। जीत-हार यहां मेरी नहीं होगी, बल्कि अमेठी की जनता की होगी। विश्वास है कि जनता राजाओं (राहुल) को आईना दिखा देगी। विश्वास ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा, राहुल जी, दलित के घर खाना खाकर अखबार में फोटो छपवाने से काम नहीं चलेगा। बल्कि एक सांसद जब खाना खाए तो वह ये चिंता करे कि कितने दलितों ने खाया, तब काम बनेगा।

    उन्होंने अमेठी के लोगों से आह्वान किया कि वे इस चुनाव में अमेठी और देश में वंशवाद का खात्मा करें। रैली के दौरान विश्वास ने अपनी कविताएं भी सुनाईं। इससे पहले लखनऊ से अमेठी जाते समय कुमार विश्वास को जगदीशपुर में काले झंडे दिखाया गया और उनका पुतला फूंका गया।

    Tags: AAP, Kumar vishwas, Rahul gandhi, अमेठी

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर