Home /News /politics /

सचिन गायब, नहीं तोड़ा रूल!

सचिन गायब, नहीं तोड़ा रूल!

उपसभापति पी जे कुरियन के मुताबिक, दोनों सदस्य सभा में 60 दिन से ज्यादा अनुपस्थित नहीं रहे हैं, इसलिए किसी नियम का उल्लंघन नहीं हुआ है।

    नई दिल्ली। सचिन तेंदुलकर और रेखा के राज्यसभा सदस्य बनने के बाद सदन से लगातार गैरहाजिर रहने के मुद्दे पर आज साथी सांसदों ने रोष जताया। उपसभापति से उक्त दोनों सेलेब्रिटी की संसद सदस्यता रद्द कर देने तक की मांग की गई। हालांकि उपसभापति पी जे कुरियन ने कहा कि सदन की बैठकों से लगातार अनुपस्थित रहने के बावजूद क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और अभिनेत्री रेखा ने किसी नियम का उल्लंघन नहीं किया। कुरियन के मुताबिक, दोनों सदस्य सभा में 60 दिन से ज्यादा अनुपस्थित नहीं रहे हैं, इसलिए किसी नियम का उल्लंघन नहीं हुआ है।

    कुरियन ने कहा कि नियमों (नियम और कार्य संचालन प्रक्रिया) के मुताबिक, यदि कोई सदस्य लोकसभा या राज्यसभा दोनों में से किसी भी सदन से बिना अनुमति 60 दिनों से ज्यादा वक्त के लिए अनुपस्थित रहता है, तो सदन उसकी सीट को रिक्त घोषित कर सकता है। उन्होंने कहा कि तेंदुलकर करीब 40 दिनों से अनुपस्थित हैं, जबकि रेखा इससे कम दिनों से। दोनों ही मामलों में प्रावधानों का उल्लंघन नहीं हुआ है।

    दोनों सदस्यों को अप्रैल 2012 में राज्यसभा के लिए नामित किया गया था। अब तक तेंदुलकर ने तीन और रेखा ने सात बैठकों में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है। कुरियन ने कहा कि इस साल तेंदुलकर किसी भी बैठक में उपस्थित नहीं रहे। अंतिम बार उन्होंने 13 दिसंबर, 2013 को सदन की बैठक में हिस्सा लिया था, जबकि रेखा अंतिम बार राज्यसभा में 19 फरवरी, 2014 को उपस्थित हुई थीं।

    कुरियन की यह प्रतिक्रिया मार्क्सुवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के सांसद पी.राजीव द्वारा सदन की बैठकों में रेखा और सचिन की अनुपस्थिति के मुद्दे को उठाए जाने के बाद आई। समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल ने इस मुद्दे पर कहा कि इन लोगों को सांसद चुना जाता है ताकि ये लोग संसद में मौजूद रहें और समाज में कुछ बदलाव पैदा कर सकें। लेकिन ये लोग तो ससंद में दिखते ही नहीं है। सांसदों का कहना था कि बेहतर ये होता कि संसद को गंभीरता से लेने वाले किसी शख्स को राज्यसभा का सांसद नामांकित किया जाता।


    कांग्रेस नेता और बीसीसीआई के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला का है कि बहुत से सांसद हैं जो संसद नहीं आते लेकिन सचिन तेंदुलकर और रेखा सेलेब्रिटी हैं इसलिए उनकी आलोचना हो रही है। राजीव शुक्ला ने कहा कि रेखा और सचिन संसद के मौजूदा सत्र में शामिल होंगे।

    Tags: Rajyasabha, Rekha, Sachin tendulkar

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर