लाइव टीवी

अजित सिंह का 'बंगला' नहीं बनेगा स्मारक: केंद्र

News18India
Updated: September 19, 2014, 6:52 AM IST

अजित सिंह का कहना है कि उनके सरकारी बंगले को उनके पिता चरण सिंह का स्मारक बना दे। इस बीच केंद्र सरकार ने साफ कर दिया कि वो सरकारी बंगले को स्मारक नहीं बनाएगी।

  • News18India
  • Last Updated: September 19, 2014, 6:52 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली।पूर्व केंद्रीय मंत्री और राष्ट्रीय लोकदल के नेता अजित सिंह के सरकारी बंगले का विवाद बढ़ता जा रहा है। अजित सिंह का कहना है कि सरकारी बंगले को उनके पिता और पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह का स्मारक बना देना चाहिए। जबकि केंद्र सरकार अब किसी भी सरकारी बंगले को स्मारक में बदलने को तैयार नहीं। यानी ये विवाद अभी थमा नहीं है। इस बीच अजित सिंह ने आज बंगला खाली कर दिया है।
केंद्र सरकार के हुक्म पर सरकारी बंगला 12ए तुगलक रोड बंगले की बिजली-पानी की सप्लाई क्या रोकी गई अजित समर्थकों ने दिल्ली को पानी सप्लाई करने वाली गंगनहर पर कब्जे की कोशिश कर डाली। भीड़ के पथराव में घायल हुए गाजियाबाद के एसएसपी धर्मेंद्र यादव सहित 20 पुलिसकर्मियों की सुध किसी ने नहीं ली। हालांकि झड़प में घायल हुए प्रदर्शनकारियों को देखने अजित सिंह अस्पताल पहुंचे। इस दौरान उन्होंने केंद्र सरकार के रुख पर नरम आवाज में ही सही, टकराव के संकेत दिए।
चूंकि महाराष्ट्र के साथ ही हरियाणा में जल्द ही चुनाव होने वाले हैं। इसलिए इस विवाद में वोट भी तलाशे जा रहे हैं। जाट वोटरों पर डोरे डालने के मकसद से हरियाणा के मुख्यमंत्री हुड्डा ने स्मारक के समर्थन में वेंकैया नायडू को चिट्ठी लिख डाली। केंद्र सरकार और बीजेपी ने इस पर प्रतिक्रिया देने में देर नहीं की।
इस पूरे विवाद पर यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश ने अजित सिंह के रुख का तो समर्थन किया, लेकिन प्रदर्शनकारियों को यूपी के बजाए दिल्ली में प्रदर्शन करने की नसीहत दे डाली। हरियाणा में चुनाव होने हैं, दिल्ली में होने वाले हैं और जाट वोटों का असर पश्चिमी यूपी के बड़े हिस्से पर भी है। इसलिए ये मामला जल्द खत्म होगा, ऐसा नहीं लगता।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पॉलिटिक्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 19, 2014, 6:52 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर