‘मनीष-गोपाल की छुटटी चाहते थे प्रशांत-योगेंद्र’

‘मनीष-गोपाल की छुटटी चाहते थे प्रशांत-योगेंद्र’
आप नेता आशुतोष ने खुलासा किया कि योगेंद्र और प्रशांत को ने शर्त रखी थी कि वो दोनों इस्तीफा तभी देंगे जब मनीष सिसोदिया भी पीएसी से इस्तीफा दें।

आप नेता आशुतोष ने खुलासा किया कि योगेंद्र और प्रशांत को ने शर्त रखी थी कि वो दोनों इस्तीफा तभी देंगे जब मनीष सिसोदिया भी पीएसी से इस्तीफा दें।

  • News18India
  • Last Updated: March 11, 2015, 8:45 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के नेता आशुतोष ने एक अखबार को दिए इंटरव्यू के दौरान ये खुलासा किया कि योगेंद्र और प्रशांत को इसलिए पीएसी से निकलना पड़ा क्योंकि उन्होंने ये शर्त रखी थी कि वो दोनों इस्तीफा तभी देंगे जब मनीष सिसोदिया भी पीएसी से इस्तीफा दें। आशुतोष के मुताबिक योगेंद्र और प्रशांत गोपाल राय को भी पीएसी से बाहर करना चाहते थे।

आशुतोष का ये भी दावा है कि दिल्ली चुनाव से पहले प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव के साथ केजरीवाल के रिश्ते काफी बिगड़ गए थे। यहां तक कि वो आपस से सामान्य बातचीत भी नहीं कर पा रहे थे। आशुतोष का दावा है कि पीएसी की बैठकों के दौरान दोनों एक दूसरे पर चिल्लाते थे, और इन सारी बातें से केजरीवाल बेहद आहत थे।

गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी की अंदरूनी कलह मंगलवार को खुलकर सामने आ गई। पार्टी के वरिष्ठ नेता योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण को राजनीतिक मामलों की समिति यानी पीएसी से निकालने को लेकर पार्टी ने पहली बार दोनों नेताओं पर वार किया।



पार्टी का आरोप है कि दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान प्रशांत और योगेंद्र पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल थे। उन्होंने अरविंद केजरीवाल की छवि खराब करने की कोशिश की। इस वजह से दोनों को पीएसी से निकाला गया।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading