Home /News /politics /

ट्वीट को लेकर वीके सिंह से नाराज है केंद्र सरकार!

ट्वीट को लेकर वीके सिंह से नाराज है केंद्र सरकार!

क्या हुर्रियत नेताओं की मौजूदगी वाली पाकिस्तान की डिनर पार्टी में पूर्व आर्मी चीफ और विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह को उनकी इच्छा के खिलाफ भेजा गया था।

    नई दिल्ली। क्या हुर्रियत नेताओं की मौजूदगी वाली पाकिस्तान की डिनर पार्टी में पूर्व आर्मी चीफ और विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह को उनकी इच्छा के खिलाफ भेजा गया था। दिल्ली के पाक उच्चायोग में आयोजित इस पार्टी में कल रात शिरकत करने के बाद वीके सिंह ने कुछ ऐसे ट्वीट किए हैं, जिससे उनकी नाराजगी झलक रही है। सूत्रों के मुताबिक सरकार भी उनके ट्वीट को लेकर नाराज़ है।

    जी हां, पाकिस्तान डे के मौके पर यूं तो विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह, पाक उच्चायुक्त अब्दुल बासित के साथ शिरकत करते नजर आए। लेकिन वहां से लौटते ही ट्विटर पर एक के बाद एक कई ऐसे ट्वीट कर डाले जिन्होंने सियासत से लेकर कूटनीति की दुनिया में हंगामा बरपा दिया। #DUTY और #DISGUST के साथ किए इन ट्वीट्स में वीके सिंह ने सीधे-सीधे तो कुछ नहीं लिखा लेकिन ये जताते लगे कि मानो वो मन मारकर समारोह में गए थे। वीके सिंह ने #DUTY के साथ ट्वीट किया है कि वो काम जिसे करने के लिए आदमी नैतिक या कानूनी कारणों से विवश होता है। #DUTY जॉब या सर्विस जो आपके लिए निर्धारित होती है।

    वीके सिंह यहीं नहीं रुके। फिर उन्होंने #DISGUST के साथ ट्वीट किया। लिखा कि #DISGUST नफरत के एहसास या नफरत से भरने के लिए। इन ट्वीट्स के आते ही सियासत के गलियारों में गर्मी थोड़ी बढ़ गई। ट्वीट्स से लग रहा था कि सिंह को इस पार्टी में शिरकत करना अच्छा नहीं लगा और उन्हें इससे खासी तकलीफ पहुंची है।

    पाकिस्तान डे की पार्टी में जनरल वीके सिंह साहब पार्टी की तस्वीरों में हरी जैकेट पहने नजर आए। साफ़ है कि जैकेट के रंग को लेकर उन्हें किसी ने ताकीद नहीं की होगी और ये उनकी निजी पसंद का ही मामला रहा होगा। सूत्रों की मानें तो सरकार उनके ट्वीट्स को लेकर नाराज़ है। ऐसे में हंगामे को लेकर जो जवाबी हमले होने थे वो होने लगे। कांग्रेस के मनीष तिवारी ने तो दबे लहजे में उनके इस्तीफे तक की मांग कर डाली। मनीष तिवारी ने ट्वीट करते हुए लिखा, अगर मंत्री पाकिस्तान को लेकर सरकार के दोहरे रवैये से इतने ही निराश हैं, तो वो सरकार से इस्तीफा क्यों नहीं देते?

    पाक डे में खास तौर पर जम्मू कश्मीर के अलगाववादी नेता भी शिरकत करने पहुंचे थे। जम्मू में हाल ही में हुए आतंकी हमलों को देखते हुए इस पार्टी के मायने और अलगाववादी नेताओं की मौजूदगी ने माहौल को कुछ भारी ज़रूर कर रखा था। वीके सिंह के ट्वीट ने इसी माहौल को शब्दों की शक्ल में बयां किया और नई बहस शुरु हो गई। जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने सिंह की म्रुाबूरी पर ट्वीट पर ही जवाब दिया ये उम्मीद करना कितना बेतुका है कि वीके सिंह पाकिस्तान के राष्ट्रीय दिवस समारोह में न जाते। ऐसे कूटनीतिक मौकों पर जाना बतौर विदेश राज्य मंत्री उनका काम है।

    मीडिया में मामला उछलने के बाद वीके सिंह का एक और ट्वीट उछला और इस बार निशाने पर मीडिया था। सिंह ने लिखा यह देखकर 'Disgust'ed हूं कि कैसे मीडिया का एक वर्ग इस मामले को तोड़-मरोड़ रहा है। कहा जा रहा है कि वीके सिंह पाक उच्चायोग में सिर्फ 10 मिनट ही रुके थे। लेकिन जिस तरह से उन्होंने अपनी नाखुशी जाहिर की है उसने सियासत में उबाल ज़रूर ला दिया है। कांग्रेस ही नहीं बाकी दल भी वीके सिंह की असहमति को कठघरे में खड़ा कर रहे हैं।

    जेडीयू अध्यक्ष शरद यादव ने कहा कि वीके सिंह की सफाई बेकार है। पाक से बातचीत कैसे बंद करोगे। दरअसल, अलगाववादियों की मौजूदगी और घाटी में हाल ही में हुए आतंकी हमलों ने इस बार पाक डे के मौके को ख़ालिस सियासी रंग में रंग दिया है। उस पर वीके सिंह के ट्वीट ने दोनों देशों के रिश्तों को सुधारने की प्रक्रिया पर भी सवाल खड़े कर दिए हैं।

    Tags: BJP, Delhi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर