Home /News /politics /

...तो फिर वीडियो क्यों नहीं दिखाते आप नेता?

...तो फिर वीडियो क्यों नहीं दिखाते आप नेता?

 आप की हंगामेदार बैठक के बाद आज योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण को राष्ट्रीय कार्यकारिणी से निकाल दिया गया। अंदेशा पहले ही था कि बैठक में हंगामा हो सकता है।

आप की हंगामेदार बैठक के बाद आज योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण को राष्ट्रीय कार्यकारिणी से निकाल दिया गया। अंदेशा पहले ही था कि बैठक में हंगामा हो सकता है।

आप की हंगामेदार बैठक के बाद आज योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण को राष्ट्रीय कार्यकारिणी से निकाल दिया गया। अंदेशा पहले ही था कि बैठक में हंगामा हो सकता है।

    नई दिल्ली। आप की हंगामेदार बैठक के बाद आज योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण को राष्ट्रीय कार्यकारिणी से निकाल दिया गया। अंदेशा पहले ही था कि बैठक में हंगामा हो सकता है। आरोप मारपीट तक के लगे। हालांकि आप नेताओं का दावा है कि बैठक शांतिपूर्ण तरीके से हुए, विरोधी गुट के नेता खुद ही हंगामा करते हुए बैठक से चले गए।

    लेकिन सवाल ये है कि इस बैठक की वीडियो रिकॉर्डिंग दिखाने पर आप की तरफ से ना नुकुर क्यों हो रही है। अभी तक आप नेताओं ने साफ साफ नहीं बताया है कि बैठक की रिकॉडिंग दिखाई जाएगी या नहीं। प्रेस कांफ्रेंस में संजय सिंह ने सिर्फ इतना कहा कि अगर जरूरत होगी तो रिकॉर्डिंग दिखाई जाएगी।

    प्रशांत और य़ोगेंद्र की तरफ से मारपीट तक के आरोप तक लगाए गए हैं। रमजान चौधरी और प्रो. आनंद कुमार ने खुद के साथ मारपीट के आरोप लगाए हैं। इनका कहना है कि बैठक में बाउंसर भी बुलाए गए थे। इतने गंभीर आरोप पर भी आप नेताओं की तरफ से बस इतना कहना कि जरूरत होने पर रिकॉर्डिंग दिखाई जाएगी, कुछ सवाल जरूर पैदा करता है। अगर रिकॉर्डिंग दिखा दी जाए तो दूध का दूध और पानी का पानी हो सकता है। लेकिन आप नेताओं की ना नुकुर से ये बात साबित हो गई कि योगेंद्र-प्रशांत की बैठक को लेकर आशंकाएं सही थीं। इसीलिए दोनों ने वीडियोग्राफी की मांग की थी।


    Tags: AAP, Prashant bhushan, Yogendra yadav

    अगली ख़बर