Home /News /politics /

कांग्रेस ने भुलाया,पर BJP को याद आए नरसिम्हा

कांग्रेस ने भुलाया,पर BJP को याद आए नरसिम्हा

कांग्रेस ने भले ही पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव को अपनी यादों से मिटा दिया हो लेकिन उन्हें प्रासंगिक बनाए रखने का बीड़ा उठाया है मोदी सरकार ने।

कांग्रेस ने भले ही पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव को अपनी यादों से मिटा दिया हो लेकिन उन्हें प्रासंगिक बनाए रखने का बीड़ा उठाया है मोदी सरकार ने।

कांग्रेस ने भले ही पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव को अपनी यादों से मिटा दिया हो लेकिन उन्हें प्रासंगिक बनाए रखने का बीड़ा उठाया है मोदी सरकार ने।

नई दिल्ली। कांग्रेस ने भले ही पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव को अपनी यादों से मिटा दिया हो लेकिन उन्हें प्रासंगिक बनाए रखने का बीड़ा उठाया है मोदी सरकार ने। मोदी सरकार ने दिल्ली के एकता स्थल पर नरसिम्हा राव की याद में एक स्मारक बनाने के प्रस्ताव को अंतिम रुप भी दे दिया है।


पूर्व प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव ने ऐसे वक्त देश को राह दिखाई जब देश आर्थिक मंदी की मार से जूझ रहा था। राव देश को उदारीकरण और वैश्वीकरण की राह पर ले गए। लेकिन दस जनपथ के दरबारियों को उनका पांच साल टिकना और गांधी परिवार से अलग पहचान बनाने की कोशिश रास नहीं आई।


आखिरकार दस जनपथ के दरबारियों ने उनके दौर में हुए घोटालों का हवाला देते हुए उन्हें ऐसी राह पर डाल दिया जहां कोई उनके जीते जी नहीं फटका। मौत के बाद भी अंतिम संस्कार के लिए हैदराबाद भेज दिया गया। लेकिन सत्ता बदली तो टीडीपी सुप्रीमो चंद्रबाबू नायडू ने कमान संभाली। मोदी से मिले और नरसिम्हा राव का स्मारक बनाने की पुरजोर वकालत की।


शहरी विकास मंत्रालय ने एक प्रस्ताव तैयार किया है जिसके तहत दिल्ली के एकता स्थल पर नरसिम्हा राव का स्मारक बनाने की योजना है। इसे कैबिनेट में रखा जाएगा। गौरतलब है कि इसी स्थान पर पूर्व राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह का भी स्मारक है जिनके संबंध कांग्रेस से ही गडबड़ा गए थे। अब दो दशक के बाद बीजेपी ने राव के नाम पर जो खेल खेला है उससे कांग्रेस की बोलती बंद है।



दरअसल यूपीए सरकार के दौरान कैबिनेट ने 2013 में ही एक प्रस्ताव पारित कर हर नेता के लिए अलग स्मारक बनाने की मांग खारिज कर दी थी और ये तय किया था कि स्मारक एक ही जगह पर बनेगा। लेकिन अब नरसिम्हा राव का स्मारक बनने का वक्त आया है तो नींद तो जरुर उड़ रही होगी।




Tags: BJP, Congress, TDP

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर