संजय गांधी ने जबरन थोपा था नसबंदी कानून...

News18India
Updated: December 29, 2010, 7:23 AM IST
संजय गांधी ने जबरन थोपा था नसबंदी कानून...
द कांग्रेस एंड द मेकिंग ऑफ द इंडियन नेशन नाम की किताब में कांग्रेस ने अतीत पर बेबाक राय रखी है। साथ ही इमरजेंसी के दौरान संजय गांधी के उठाए गए कदमों को गलत ठहराया है।

द कांग्रेस एंड द मेकिंग ऑफ द इंडियन नेशन नाम की किताब में कांग्रेस ने अतीत पर बेबाक राय रखी है। साथ ही इमरजेंसी के दौरान संजय गांधी के उठाए गए कदमों को गलत ठहराया है।

  • News18India
  • Last Updated: December 29, 2010, 7:23 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली। कांग्रेस ने पहली बार अपने गिरेबान में झांका है। ये पहली बार है कि पार्टी ने संजय गांधी के बारे में अपनी राय स्पष्ट की है। द कांग्रेस एंड द मेकिंग ऑफ द इंडियन नेशन नाम की किताब में कांग्रेस ने अतीत पर बेबाक राय रखी है। साथ ही इमरजेंसी के दौरान संजय गांधी के उठाए गए कदमों को गलत ठहराया है।

दरअसल इमरजेंसी के 35 साल बाद कांग्रेस ने सच का सामना किया है। पार्टी को ये अहसास हुआ है कि इमरजेंसी के दौरान लागू नीतियां सही नहीं थीं। कांग्रेस ने अपने वजूद के 125 साल पूरे होने पर अपना इतिहास जारी किया है जिसमें इमरजेंसी का जिक्र किया गया है। 'द कांग्रेस एंड द मेकिंग ऑफ द नेशन' नाम की इस किताब में इमरजेंसी के दौरान जबरन नसबंदी और झुग्गियां हटाने के लिए संजय गांधी को जिम्मेदार ठहराया गया है।

किताब में कहा गया है कि शुरुआत में जनता के एक बड़े वर्ग ने इमरजेंसी का स्वागत किया था, लेकिन बाद में संजय गांधी के मनमाने और तानाशाही रवैये से जनता नाराज हो गई। आगे कहा गया है कि ज्यादा उत्साह की वजह से नसबंदी को अनिवार्य कर दिया गया और झुग्गियां हटाने के कार्यक्रम लागू किए गए। संजय गांधी की परिवार नियोजन की मुहिम की वजह से ही सरकार नसबंदी को सख्ती से अमल में लाने के लिए मजबूर हुई। संजय गांधी ने झुग्गी झोपड़ियों की सफाई, दहेज विरोधी उपाय और साक्षरता के लिए भी प्रयास किए।

लेकिन ये काम उन्होंने मनमर्जी और तानाशाही तरीके से किए, जिससे आम लोग नाराज हुए। किताब में जिक्र किया गया है कि किस तरह परिवार नियोजन, नसबंदी और झुग्गियों की सफाई जैसे काम जबरदस्ती कराने का नुकसान हुआ।

कांग्रेस कभी भी राजीव गांधी की तारीफ के पुल बांधने से नहीं चूकती है। वहीं दूसरी तरफ संजय गांधी के मुद्दे से दूरी बनाए रखी है। संजय गांधी के बेटे के बीजेपी में शामिल होने को इसी से जोड़ कर देखा गया था। अपने 125 वें साल में कांग्रेस ने एक नया कदम उठाया है। पार्टी ने नरसिम्हा राव की तारीफ की है।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पॉलिटिक्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 29, 2010, 7:23 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...