लाइव टीवी

'दुनिया 2016 में पहुंची, वोट डालने में किस स्याही का इस्तेमाल हुआ, यह देखना पागलपन है'

भाषा
Updated: June 15, 2016, 6:54 AM IST
'दुनिया 2016 में पहुंची, वोट डालने में किस स्याही का इस्तेमाल हुआ, यह देखना पागलपन है'
दुनिया साल 2016 में प्रवेश कर गई है। और आप कह रहे हैं कि नीला पेन था या काला पेन था। क्या फर्क पड़ता है, अगर किसी ने नीले, लाल, हरे, गुलाबी रंग की स्याही से निशान लगाया है।

दुनिया साल 2016 में प्रवेश कर गई है। और आप कह रहे हैं कि नीला पेन था या काला पेन था। क्या फर्क पड़ता है, अगर किसी ने नीले, लाल, हरे, गुलाबी रंग की स्याही से निशान लगाया है।

  • Share this:
चंडीगढ़। हरियाणा में राज्यसभा चुनावों में कांग्रेस के कुछ वोट गलत पेन के इस्तेमाल की वजह से खारिज किए जाने के आरोपों के मद्देनजर पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष अमरिंदर सिंह ने कहा है कि क्या फर्क पड़ता है अगर कोई मतदान करते समय किसी दूसरे रंग की स्याही का इस्तेमाल करता है। उन्होंने कहा कि दुनिया साल 2016 में प्रवेश कर गई है। और आप कह रहे हैं कि नीला पेन था या काला पेन था।

सिंह ने कहा कि क्या फर्क पड़ता है, अगर किसी ने नीले, लाल, हरे, गुलाबी रंग की स्याही से निशान लगाया है। किसे मतलब है? यह पागलपन है। हरियाणा में दो राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव में 14 कांग्रेस विधायकों के वोट अवैध करार दिए गए थे।

इस घटनाक्रम के बाद पार्टी समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार आर के आनंद चुनाव हार गए। अमरिंदर ने कहा कि पार्टी पता लगाएगी कि वह किन कारणों से हारी।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पॉलिटिक्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 15, 2016, 6:54 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर