लाइव टीवी

वाजपेयी-आडवाणी पर दिए बयान पर कायम ओवैसी

News18India.com
Updated: May 5, 2015, 1:57 PM IST

दरअसल, ओवैसी हैदराबाद से बाहर पैर फैलाने के लिए बेताब हैं। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के बाद निकाय चुनाव में भी उन्हें खासी कामयाबी मिली है।

  • Share this:
नई दिल्ली। ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने एक बार फिर दोहराया है कि बीजेपी के बड़े नेताओं अटल बिहारी वाजपेयी और लाल कृष्ण आडवाणी को बड़ा नागरिक सम्मान नहीं दिया जाना चाहिए। आईबीएन7 से खास बातचीत में ओवैसी ने कहा कि, मोदी सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को भारत रत्न दिया, बाबरी मस्जिद को गिराने के पीछे उनका भी हाथ था।

मुसलमानों का सबसे बड़ा नेता बनने की फिराक में एमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने बीजेपी के दो वरिष्ठ नेताओं अटल और आडवाणी को निशाना बनाया है। ओवैसी ने अटल को भारत रत्न और आडवाणी को पद्दविभूषण देने पर सवाल उठाया है। उनका आरोप है कि बीजेपी के ये दोनों वरिष्ठ नेता बाबरी कांड में शामिल थे। कांग्रेस और बीजेपी दोनो ने ओवैसी के इस बयान की निंदा की है।

दरअसल, ओवैसी हैदराबाद से बाहर पैर फैलाने के लिए बेताब हैं। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के बाद निकाय चुनाव में भी उन्हें खासी कामयाबी मिली है। जोश में आए ओवैसी की नजर अब यूपी पर टिकी हैं। ओवैसी जानते हैं कि बिना बाबरी मस्जिद की याद दिलाए और बीजेपी पर हल्ला बोले यूपी की राजनीति मुश्किल होगी। लिहाजा उन्होने इसी से अपनी बिसात बिछाने की शुरुआत की है।

लेकिन ओवैसी के इस बयान की बीजेपी ही नहीं कांग्रेस भी निंदा कर रही है। भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि इस बयान पर ध्यान देने की जरूरत नहीं। वहीं कांग्रेस नेता दिनेश गुंडूराव ने कहा कि वाजपेयी एक सम्मानित नेता हैं, उनके लिए ऐसा कहना सही नहीं है।



 

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पॉलिटिक्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 5, 2015, 12:14 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर