केंद्र ने जनलोकपाल सहित दिल्ली सरकार के 14 बिल बैरंग लौटाए, केजरीवाल बिफरे

केंद्र सरकार ने दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार को बड़ा झटका देते हुए उसके द्वारा मंजूरी के लिए भेजे गए 14 बिलों को वापस कर दिया है।
केंद्र सरकार ने दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार को बड़ा झटका देते हुए उसके द्वारा मंजूरी के लिए भेजे गए 14 बिलों को वापस कर दिया है।

केंद्र सरकार ने दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार को बड़ा झटका देते हुए उसके द्वारा मंजूरी के लिए भेजे गए 14 बिलों को वापस कर दिया है।

  • Share this:
नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार को बड़ा झटका देते हुए उसके द्वारा मंजूरी के लिए भेजे गए 14 बिलों को वापस कर दिया है। बिल वापस भेजने के पीछे तर्क दिया गया है कि दिल्ली सरकार ने इन बिलों को भेजने के लिए तय प्रक्रिया का पालन नहीं किया। वहीं दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री सोमनाथ भारती ने ये कहकर केंद्र सरकार पर निशान साधा है कि अगर प्रक्रिया सही नहीं थी तो ये बिल उसी समय वापस भेजे जाने चाहिए थे, आखिर केंद्र सरकार इन्हें पिछले एक साल से अपने पास क्यों लटकाए रही।

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव आर पी सिंह ने कहा कि दिल्ली सरकार ने इन बिलों को केंद्र सरकार से मंजूरी के लिए भेजते समय तय प्रक्रिया का पालन नहीं किया। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार को ये बिल उपराज्यपाल के जरिए केंद्र को भेजने चाहिए थे। दिल्ली सरकार को वापस भेजे गए बिलों में जनलोकपाल बिल भी शामिल है।

वहीं आम आदमी पार्टी के नेता सोमनाथ भारती ने कहा कि केंद्र का बिलों को लौटाना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। अगर बिल भेजने की प्रक्रिया सही नहीं थी तो उन्हें उसी दिन वापस कर देना चाहिए था जिस दिन ये मंजूरी के लिए भेजे गए थे। साफ है कि केंद्र सरकार दिल्ली की सरकार को यहां की जनता के कल्याण के लिए कुछ नहीं करने दे रही।



उधर दिल्ली सरकार के सूत्रों का कहना है कि वो बिलों को लेकर केंद्र की आपत्तियों को पढ़ेगी और उसके बाद आगे की कार्यवाही करेगी। इसके पहले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और विधानसभा अध्यक्ष आर एन गोयल केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मिले थे और उनसे मांग की थी कि इन बिलों को पास करा दिया जाए।


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज