होम /न्यूज /politics /केजरीवाल ने किया PM पर हमला, कहा- मेरे सिर्फ शब्द खराब, इनके तो करम खराब

केजरीवाल ने किया PM पर हमला, कहा- मेरे सिर्फ शब्द खराब, इनके तो करम खराब

केजरीवाल ने पीएम मोदी पर तीखा हमला करते हुए कहा कि राजेंद्र तो बहाना है, केजरीवाल उनका निशाना है। उन्होंने कहा कि मेरे ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली। दिल्ली में प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार के आवास पर छापे मारने पर आज मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सीधे प्रधानमंत्री पर बेहद तीखा हमला बोला। केजरीवाल ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि राजेंद्र तो बहाना है केजरीवाल उनका निशाना है। उन्होंने कहा कि मेरे तो सिर्फ शब्द खराब थे, लेकिन इनके तो कर्म ही खराब हैं। इससे पहले केजरीवाल ने पीएम मोदी को कायर और मनोरोगी तक करार दिया था।

    केजरीवाल ने कहा कि ये रेड मेरे प्रिसिंपल सेक्रेटरी राजेंद्र जी के 2007, 2008 से संबंधित ठेके को लेकर है। मुझे ये सरासर झूठ नजर आता है। केजरीवाल ने छापे पर मोदी सरकार की मंशा पर सवाल उठाते हुए कहा कि हमारी सरकार, हमारी पार्टी भ्रष्टाचार के खिलाफ है। कल को मेरे बेटे के खिलाफ सबूत मिले तो मैं उसे जेल भिजवाऊंगा। लेकिन जो कार्रवाई हो रही है, मुझे नहीं लगता वो उन ठेकों की जांच के लिए हो रही है। क्योंकि एजूकेशन सेक्रेटरी रहते हुए राजेंद्र जी ने गलत ठेके दिए 2007 में, तो आज सीबीआई को एजूकेशन डिपार्टमेंट पर भी तो रेड मारनी थी। 2007 की उस ठेके की फाइल कहां है? वो मुख्यमंत्री के दफ्तर में नहीं है, वो एजूकेशन डिपार्टमेंट के रिकॉर्ड रूम में हैं। अगर वैट कमिश्नर रहते हुए राजेंद्र जी ने गलत ठेके दिए तो वो वैट डिपार्टमेंट की फाइल कहां है, जिसके जरिए वो ठेके दिए गए।

    उन्होंने कहा कि वैट की वो फाइल, वैट डिपार्टमेंट के रिकॉर्ड रूम में है। एजूकेशन डिपार्टमेंट पर रेड नहीं मारी, वैट डिपार्टमेंट पर भी रेड नहीं मारी। उनसे फाइलें भी नहीं मांगी। जिन ठेकों की ये बात कर रहे हैं, उन ठेकों की फाइल दिल्ली सरकार से मांगी ही नहीं गईं। उन्होंने कहा कि आईटी सेक्रेटरी रहते हुए ठेके दिए, तो आईटी डिपार्टमेंट में भी रेड नहीं मारी उन्होंने। सीधे मुख्यमंत्री के दफ्तर में रेड मारी है। मुख्यमंत्री के दफ्तर में 10-15 दिनों से ज्यादा दिनों की फाइलें नहीं होती हैं। मुख्यमंत्री के दफ्तर में फाइलें मेंटेन नहीं होती हैं। अलग-अलग विभागों से फाइलें आती हैं। मैं साइन करता हूं और फाइलें उस विभाग में वापस चली जाती हैं। अगर 2007-2014 के बीच के ठेकों की ये जांच कर रहे थे तो वो मुख्यमंत्री के दफ्तर में मिल ही नहीं सकती है। वो पुरानी फाइलें हैं। वो उस डिपार्टमेंट के रिकोर्ड रूम में मिलेंगी।

    केजरीवाल ने कहा कि इनका मकसद जांच करने का नहीं है। राजेंद्र तो बहाना है, केजरीवाल इनका निशाना है। सुबह से सीबीआई मेरे दफ्तर आई और एक फाइल ढूंढ रही है। कौन सी फाइलें सीबीआई ढूंढ रही है? ये मुझे अब बताना जरूरी हो गया है। केजरीवाल ने खुलासा किया कि वो फाइल है डीडीसीए की फाइल, जिसके अंदर अरुण जेटली फंस रहे हैं।

    केजरीवाल ने खुली चुनौती देते हुए कहा कि मैं आपको बता दूं मोदी जी, आपने दूसरों को तो डरा दिया सीबीआई जांच से। लेकिन केजरीवाल नहीं डरने वाला है। आखिर सांस तक मैं देश के लिए मर मिटूंगा। सीबीआई और ऐसी भभकियों से मैं नहीं डरने वाला हूं। भाजपा के शब्दों के चयन पर सवाल उठाने पर केजरीवाल ने कहा कि मेरे तो सिर्फ शब्द ही खराब थे, लेकिन तुम्हारे तो कर्म फूटे हैं। मैं तो हिसार के पास एक गांव का रहने वाला हूं। इसलिए हो सकता है मेरे शब्द खराब हों, तुम्हारे तो कर्म खराब हैं। इसलिए पहले आप अपने कुकर्मों की माफी देश से मांगें, फिर मैं अपने गलत शब्दों के लिए देश से माफी मांग लूंगा।

    Tags: Arvind kejriwal, Narendra modi

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें