अपना शहर चुनें

States

मुलायम कुनबे में घमासान के बीच पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान का ये है मिशन यूपी

photo Getty Images
photo Getty Images

24 अक्टूबर को पीएम बुंदेलखंड के महोबा में एक रैली करेंगे। संकेत यही हैं कि इस रैली में बुंदेलखंड के लिए कुछ न कुछ नया ऐलान हो सकता है।

  • News18India
  • Last Updated: October 19, 2016, 7:27 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली। पिता से बगावत कर अखिलेश यादव अपनी विकास यात्रा पर निकलने की तैयारी मे भले ही लगे हों लेकिन बीजेपी विकास के नाम पर प्रचार का कोई मौका नहीं चूक रही। एक ओर सत्तारुढ समाजवादी पार्टी में सर फुटव्वल चल रहा है तो दूसरी तरफ केन्द्र का हर मंत्री एक नयी योजना लेकर यूपी पहुंच रहा है। खुद पीएम मोदी खुद अगले हफ्ते यूपी में दो रैलियों को संबोधित करने वाले हैं। 24 अक्टूबर को पीएम बुंदेलखंड के महोबा में एक रैली करेंगे। संकेत यही हैं कि इस रैली में बुंदेलखंड के लिए कुछ न कुछ नया ऐलान हो सकता है।

24 अक्टूबर को पीएम के कार्यक्रम की शुरुआत उनके संसदीय क्षेत्र वाराणसी से होगी। पीएम मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में पीएनजी गैस पाइप लाईन का उद्घाटन करेंगे। वाराणसी को स्मार्ट सीटी बनाने के लिए पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने प्लान कुछ इस तर्ज पर बनाया है कि स्वच्छ ईंधन मिलने की शुरुआत वाराणसी से हो और धीरे धीरे पूरे यूपी को पीएनजी गैस की सप्लाई मिलने लगे। पीएम मोदी ने खुद अपने भाषणों में कहा है कि सरकार को सिर्फ एक हाथ को मजबूत नहीं करना है। इशारा था पूर्वांचल और पूर्वोत्तर के राज्यों की ओर। पीएम ने कहा था कि पूर्वी भारत के विकास के बिना देश का विकास संभव नहीं। तभी तो वाराणसी को स्वच्छ ईंधन सप्लाई करने की लाईन का उद्घाटन करने खुद पीएम पहुंच रहे हैं।

इसके अलावा पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने एक और मास्टर स्ट्रोक मारा है। धर्मेन्द्र प्रधान समेत के नेतृत्व में मोदी सरकार को दो और बड़े मंत्री मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावडेकर और कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी 22 अक्टूबर को अमेठी पहुंचेगे गांधी परिवार के गढ़ में विकास की बातें करने। तीनों मंत्री राजीव गांधी पेट्रोलियम संस्थान को देश को समर्पित करेंगे। खास बात ये कि इस कार्यक्रम में अमेठी से कांग्रेस के सांसद राहुल गांधी और मुख्य मंत्री अखिलेश यादव को भी न्यौता भेजा गया है। देखते हैं इस मौके पर कौन कौन मौजूद रहता है। वैसे भी लोकसभा चुनाव हारने के बाद भी स्मृति इरानी अमेठी में खासी सक्रिय हैं और समय समय पर अपनी उपस्थिति दर्शाती रहती हैं।



जाहिर है मुलायम के कुनबे में घमासान के बीच मोदी सरकार के मंत्री विकास की बातें करने में लगें हैं क्योकि उन्हें यूपी में अपना रास्ता साफ होता नजर आ रहा है।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज