Home /News /politics /

कांग्रेस में आते ही सिद्धू नेे शुरू किया चुनाव प्रचार, अमृतसर में बादल पर निशाना

कांग्रेस में आते ही सिद्धू नेे शुरू किया चुनाव प्रचार, अमृतसर में बादल पर निशाना

कांग्रेस में शामिल होने के बाद पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू पहली बार अमृतसर पहुंचे। सिद्धू का यहां उनके समर्थकों ने जोरदार स्वागत किया है।

    अमृतसर। कांग्रेस में शामिल होते ही भाजपा के पूर्व सांसद और क्रिकेटर  नवजोत सिंह सिद्धू पहली बार चुनाव प्रचार करने अमृतसर पहुंचे। सिद्धू का यहां उनके समर्थकों ने जोरदार स्वागत किया है। इस दौरान एयरपोर्ट पर सैकड़ों समर्थकों का हुजूम पहुंच गया। सिद्धू ने अपने समर्थकों के साथ रोड शो भी किया। इस दौरान सिद्धू ने बादल परिवार पर निशाना साधते हुए कहा कि वो यहां आम लोगों की लड़ाई लड़ने आए हैं ताकि वो पंजाब की धरती से दुष्टों का विनाश कर सकें।

    इससे पहले बीजेपी से नाता तोड़कर औपचारिक तौर पर कांग्रेस का हाथ थामने वाले सिद्धू ने बीजेपी और पंजाब सरकार पर जमकर निशाना साधा था। सिद्धू ने सोमवार को कांग्रेस पर शामिल होने पर कहा था उनकी 'घर वापसी' हुई है और सत्तारूढ़ शिरोमणि अकाली दल उनके निशाने पर है। सिद्धू ने कहा था, मैं पैदाइशी कांग्रेसी हूं। यह मेरे लिए घर वापसी जैसा है। हालांकि इस दौरान सिद्धू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कोई टिप्पणी नहीं की।

    नवजोत चार फरवरी को होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव में अमृतसर (पूर्व) सीट से चुनाव लड़ सकते हैं। इसी स्थान से वह 2004 से 2014 तक बीजेपी सांसद रहे। 2014 के लोकसभा चुनाव में भी वह अमृतसर से टिकट चाहते थे, लेकिन यहां से अरुण जेटली को टिकट दे दिया गया। जेटली कांग्रेस नेता कैप्टन अमरिंदर सिंह से चुनाव हार गए, मगर उन्हें नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल में बतौर वित्तमंत्री जगह मिल गई। सिद्धू की बीजेपी से नाराजगी इसी को लेकर है।

    इसी के बाद ऐसी अटकलें तेज हो गईं कि सिद्धू आम आदमी पार्टी (आप) में शामिल हो सकते हैं, लेकिन आप और सिद्धू के बीच सही से तालमेल नहीं बैठ सका और अन्त में सिद्धू कांग्रेस में शामिल हो गए। उन्होंने रविवार को कांग्रेस का हाथ थामा था।

    Tags: Amritsar, Congress, Navjot singh sidhu

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर