अपना शहर चुनें

States

मोदी के ट्वीट पर उमर का तंज- 'अखलाक पर नहीं, सिद्धू पर गया ध्यान'

दादरी पर नया विवाद प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री के उस ट्वीट से खड़ा हो गया जिसमें उन्होंने पूर्व क्रिकेटर और बीजेपी नेता नवजोत सिंह सिद्धू के जल्द ठीक होने की दुआ की।
दादरी पर नया विवाद प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री के उस ट्वीट से खड़ा हो गया जिसमें उन्होंने पूर्व क्रिकेटर और बीजेपी नेता नवजोत सिंह सिद्धू के जल्द ठीक होने की दुआ की।

दादरी पर नया विवाद प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री के उस ट्वीट से खड़ा हो गया जिसमें उन्होंने पूर्व क्रिकेटर और बीजेपी नेता नवजोत सिंह सिद्धू के जल्द ठीक होने की दुआ की।

  • Share this:
नई दिल्ली। गौमांस, हत्या और राजनीति के बीच जूझ रहा यूपी का दादरी बुधवार को भी सुर्खियों में रहा। बुधवार को नया विवाद प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री के उस ट्वीट से खड़ा हो गया जिसमें उन्होंने पूर्व क्रिकेटर और बीजेपी नेता नवजोत सिंह सिद्धू के जल्द ठीक होने की दुआ की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिद्धू के ट्वीट पर जवाब देते हुए उन्हों फाइटर बताया। वर्ल्ड बैंक की मीटिंग के लिए लीमा गए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी सिद्धू के जल्द ठीक होने की विश करने में देर नहीं की।

प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री के इतना कहने की देर थी कि आलोचना का दौर भी शुरू हो गया। विरोधियों ने इसे दादरी में अखलाक की मौत से जोड़ते हुए पीएम पर निशाना साधा। नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, ‘सम्मानीय पीएम को क्या कहेंगे क्योंकि अखलाक की हत्या से ज्यादा उनका ध्यान सिद्धू के ब्लड क्लॉट पर जाता है।’ बता दें कि पूर्व क्रिकेटर और बीजेपी के पूर्व सांसद नवजोत सिंह सिद्धू घुटने में चोट लगने के कारण दिल्ली के अपोलो अस्पताल में भर्ती हैं। अब वह खतरे से बाहर हैं।
वहीं दादरी में, राजनेताओं के लगातार हो रहे दौरों के बीच बुधवार को वीएचपी नेता साध्वी प्राची भी बिसहड़ा गांव पहुंची। हालांकि साध्वी की गांव में एंट्री नहीं हो सकी लेकिन उन्होंने आजम खान और विरोधियों पर हमले का मौका नहीं छोड़ा। साध्वी प्राची ने कहा, ‘जिस परिवार को फर्जी मुकदमे में फसाकर इतना टॉर्चर किया गया कि उसके घर से एक शख्स ने सूइसाइड कर लिया, मैं उस परिवार से मिलने गई थी।’ बता दें कि बिसाहड़ा गांव में पुलिस की दबिश से डरकर मंगवार को जयप्रकाश नाम के युवक ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली थी। पुलिस साध्वी को अपनी कस्टडी में लेकर ग्रेटर नोएडा से बाहर छोड़ने गई।  


दादरी घटना पर गृह सचिव ने दादरी की लॉ ऐंड ऑर्डर सिचुऐशन को लेकर पीएमओ को ब्रीफ किया है। गृह सचिव ने पीएमओ को यूपी सरकार के दिए गए जवाब से भी अवगत कराया है।



दादरी को जहां शांत कराने की कोशिशें हर स्तर पर जारी है, वहीं राजनीतिक स्तर पर इसे शांत न होने देने का पूरा प्रयास किया जा रहा है। बुधवार को ही हिंदू युवा वाहिनी के लोग दादरी पहुंचे।

बिसाहड़ा गांव में भड़काऊ भाषण देने के आरोप में पुलिस ने महेश शर्मा, संगीत सोम और नसीमुद्दीन सिद्दीकी के खिलाफ शिकायत दर्ज की है। संगीत सोम ने बुधवार को इस मामले पर बयान दिया। सोम ने कहा, ‘मुझे मुकदमे की जानकारी नही है लेकिन सबसे पहले मुकदमा राहुल गांधी के खिलाफ, केजरीवाल के खिलाफ होना चाहिए, मुझसे पहले वो लोग गए थे।’ दादरी की घटना को यूएन ले जाने के मामले पर सोम ने आजम खान की मानसिक स्थिति को खराब बताया।

वहीं, इस पूरे घटनाक्रम में सबसे ज्यादा खबरों मे रहे राजनेता आजम खान ने अखलाक की हत्या का विरोध कर रहे बहुसंख्यक समुदाय को सराहा। आजम ने कहा कि देश में फासिस्टो के खिलाफ माहौल बन रहा है, साहित्यकारों ने अपने इस्तीफे देने शुरू कर दिए हैं। आजम ने कहा कि मुस्लिमों की आवाज को मैं अंतरराष्ट्रीय मंच पर लेकर जाता रहूंगा, डरने वाला नहीं हूं।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज