शिवसेना ने देश की खुफिया एजेंसियों पर साधा निशाना

हिंदुस्तान की खुफिया एजेंसियों पर सवाल खड़ा करते हुए शिवसेना ने कहा कि हमारे देश में खुफिया विभाग मजबूत होने के बावजूद देश के अलग अलग राज्यों से देश के मुस्लिम युवकों के गायब होने का सिलसिला थम नहीं रहा है।
हिंदुस्तान की खुफिया एजेंसियों पर सवाल खड़ा करते हुए शिवसेना ने कहा कि हमारे देश में खुफिया विभाग मजबूत होने के बावजूद देश के अलग अलग राज्यों से देश के मुस्लिम युवकों के गायब होने का सिलसिला थम नहीं रहा है।

हिंदुस्तान की खुफिया एजेंसियों पर सवाल खड़ा करते हुए शिवसेना ने कहा कि हमारे देश में खुफिया विभाग मजबूत होने के बावजूद देश के अलग अलग राज्यों से देश के मुस्लिम युवकों के गायब होने का सिलसिला थम नहीं रहा है।

  • Share this:
नई दिल्ली। केंद्र में बीजेपी की सहयोगी शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय के जरिए एक बार फिर तीखा वार किया है। इस बार शिवसेना के निशाने पर बीजेपी नहीं बल्कि देश की खुफिया एजेंसियां आई हैं।

हिंदुस्तान की खुफिया एजेंसियों पर सवाल खड़ा करते हुए शिवसेना ने कहा कि हमारे देश में खुफिया विभाग मजबूत होने के बावजूद देश के अलग अलग राज्यों से देश के मुस्लिम युवकों के गायब होने का सिलसिला थम नहीं रहा है।

पार्टी ने कहा है कि कभी सिमी, कभी लश्कर ए तैयबा तो कभी जैश ए मोहम्मद जैसे संगठनों के इशारे पर मुस्लिम युवक देश से बाहर जाते रहते हैं लेकिन हमारे देश की सुरक्षा तंत्र को कानोकान भनक नहीं लगती। अब आईएस नामक आतंकवादी संगठन के लिए देश के मुस्लिम युवक जिहादी बन रहे हैं।



शिवसेना ने कहा है कि पिछले 10-15 साल से देश के कितने युवक लापता हुए और आज वे कहां हैं जांच होगी तो पता चल जाएगा। ये भी मालूम हो जाएगी कि वह किस संगठन के लिए काम कर रहे हैं।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज