कांग्रेस में बढ़ी कलह, शीला दीक्षित ने माकन के खिलाफ खोला मोर्चा

कांग्रेस में बढ़ी कलह, शीला दीक्षित ने माकन के खिलाफ खोला मोर्चा
शीला दीक्षित

एमसीडी चुनाव के बाद दिल्‍ली प्रदेश कांग्रेस में कलह बढ़ गई है

  • Share this:
अरुण कुमार सिंह

एमसीडी चुनाव में हार के बाद दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. शीला के नेतृत्व में दिल्ली के लगभग एक दर्जन पार्टी नेताओं की बैठक राज्यसभा सांसद कपिल सिब्बल के घर पर हुई. इसमें सभी नेताओं ने माकन की कार्यशैली पर सवाल उठाए.

बैठक में शीला दीक्षित, हारून युसूफ, राजकुमार चौहान मौजूद थे, जबकि एके वालिया और मंगतराम सिंघल ने अपनी लिखित सहमति दी. सभी नेताओं की मांग है कि दिल्ली में ऐसा नेता हो जो अगले विधानसभा चुनाव से पहले सभी को साथ लेकर आम आदमी पार्टी और बीजेपी को मजबूत टक्कर दे.



इस मसले को लेकर राहुल गांधी से मुलाकात हो चुकी है और सोनिया से भी इन नेताओं ने मिलने का समय मांगा है. पार्टी के इस अंदरूनी मोर्चे ने अजय माकन का इस्तीफा तो नहीं मांगा, लेकिन ये साफ कहा कि वो पार्टी के नेताओं को साथ लेकर नहीं चल रहे.
नेताओं का तर्क है की माकन को फ्री हैंड दिया गया, उन्होंने अपने हिसाब से टिकट दिया फिर भी पार्टी बुरी तरह हारी. यही नहीं कई नेता अजय माकन पर आरोप लगाते हुए पार्टी छोड़ के चले गए. आरोप ये भी है कि माकन ने अकेले ही सारी रणनीति बनाई. किसी और को पूछा नहीं.

Ajay Makan अजय माकन

बता दें कि एमसीडी चुनाव के बाद अजय माकन ने खुद ही जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा दे दिया था, लेकिन अब तक राहुल गांधी ने उसे स्वीकार नहीं किया है. शीला दीक्षित ने व्यक्तिगत तौर पर भी राहुल से मिलकर अजय माकन की शिकायत की है.

अजय माकन ये तर्क देते हैं कि एमसीडी चुनाव और राजौरी गार्डन विधानसभा के उपचुनाव  में पार्टी का मत प्रतिशत बढ़ा है. हालांकि शीला दीक्षित ने राहुल गांधी से मुलाकात में माकन के इस दावे को ये कहकर खारिज कर दिया कि राजनीतिक दल चुनाव जीतने और सरकार बनाने के लिए चुनाव लड़ते हैं न कि वोट प्रतिशत बढ़ाने के लिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading