• Home
  • »
  • News
  • »
  • politics
  • »
  • शिवसेना का आरोप, स्मार्ट सिटी के बहाने मुंबई पर राज करना चाहती है मोदी सरकार!

शिवसेना का आरोप, स्मार्ट सिटी के बहाने मुंबई पर राज करना चाहती है मोदी सरकार!

  • Share this:
    मुंबई। महाराष्ट्र में स्मार्ट सिटी के मुद्दे पर शुरू हुई राजनीति थमने का नाम नहीं ले रही है। राज ठाकरे के बाद अब उद्धव ठाकरे ने भी स्मार्ट सिटी के मुद्दे पर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। पार्टी मुखपत्र सामना के जरिए शिवसेना ने आरोप लगाया है की केंद्र सरकार मुंबई को स्मार्ट सिटी बनाने के बहाने केंद्र शासित प्रदेश बनाने की चाल रही है। वहीं मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस विरोध को देखते हुए सभी दलों को साधने में जुट गए है।

    केंद्र सरकार ने स्मार्ट सिटी बनाने के लिए जिन 100 शहरों का चुनाव किया है, उसमें मायनगरी मुंबई भी है। लेकिन स्मार्ट सिटी को लेकर सियासत हो रही है। शिवसेना ने मुंबई को स्मार्ट सिटी बनाने के विरोध में आवाज बुलंद कर दी है। शिवसेना ने आरोप लगाया है की, मोदी सरकार स्मार्ट सिटी के बहाने मुंबई पर राज करना चाहती है। पार्टी के मुखपत्र सामना के जरिए केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधते हुए शिवसेना ने लिखा है।

    मुंबई को भी स्मार्ट सिटी के लिए चुना गया है। मायानगरी का विकास केंद्र की मोदी सरकार की निगरानी में होगा। मतलब, विकास कैसे और क्या होगा ये सिर्फ मोदी सरकार तय करेगी। विकास की जो रुपरेखा दिखाई जा रही है वो पूंजीपति, व्यापारी और बिल्डरों के लिए है। मुंबई को पिछले दरवाजे से केंद्र शासित करने की कोशिश करने से पहले शिवाजी की तलवार देख लो, औरंगजेब की क्रब देख लो और 105 शहीदों के बलिदान याद कर लो, हमें जो कहना है वो आप समझ गए होगें।

    सीधे धमकी भरे लहजे चेतावनी देते हुए शिवसेना ने साफ कर दिया है की वो मुंबई को स्मार्ट सिटी बनाने का सपना पूरा नहीं होने देगी।

    शिवसेना विधायक सुनिल प्रभु के मुताबिक स्मार्ट सिटी के बहाने मुंबई को केंद्र शासित राज्य बनाने की चाल केंद्र सरकार चल रही है। बीएमसी में स्मार्ट सिटी का प्रस्ताव आने पर हम विरोध करेंगे।

    सिर्फ शिवसेना ही नहीं बल्की राज ठाकरे की पार्टी एमएनएस और कांग्रेस भी स्मार्ट सिटी पर आपत्ति जता रही है। पुणे और पिंपरी इलाके में स्मार्ट सिटी का विरोध करते हुए लोग सडकों पर भी उतरें। स्मार्ट सिटी पर हो रही सियासत पर बीजेपी नेताओं ने भी अब पलटवार कर दिया है और विरोध करने वालों को नासमझ बताया है।

    बीजेपी विधायक आशिष शेलार के मुताबिक राज्य को साथ लेकर से ही स्मार्ट सिटी बनेगा। विरोध करने वाले अब क्यों आवाज उठा रहें है, क्या इस बार इनकी सेटींग नहीं हुई?

    वहीं मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस शिवसेना के विरोध के बाद डेमैज कंट्रोल में जुट गए है। उनके मुताबिक स्मार्ट सिटी को लेकर लोगों में भ्रम फैलाने की कोशिश की जा रही है। इसमें महानगरपालिका के कोई भी अधिकार खत्म नहीं होंगे।

    बहरहाल मुंबई को स्मार्ट सिटी बनाने की योजना परवान चढ़ने से पहले ही सियासी पारा चढ़ा हुआ है। इसके पीछे की वजह आगामी बीएमसी चुनाव माने जा रहे हैं। इसलिए हर दल अपने जड़े मजबूत करने के लिए स्मार्ट सिटी की सियासत में कूद रहा है। हालांकि मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस पीएम मोदी की इस महत्वकांक्षी योजना के लिए एमएनएस और शिवसेना को साधने में लगे हुए जिससे कोई रोड़ा ना अटके।

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज