Home /News /politics /

क्‍या राष्‍ट्रीय अधिवेशन में अखिलेश यादव को नेता चुनने की है तैयारी?

क्‍या राष्‍ट्रीय अधिवेशन में अखिलेश यादव को नेता चुनने की है तैयारी?

गुरुवार को कालीदास मार्ग पर बनी रणनीति और प्रोफेसर रामगोपाल यादव के बयानों पर जाएं तो अखिलेश गुट सपा के राष्‍ट्रीय अधिवेशन को बुलाने की तैयारी में जुटा हुआ है। इसके लिए गुट के कुछ खास विधायक और एमएलसी को जिम्‍मेदारी सौंपी गई है।

गुरुवार को कालीदास मार्ग पर बनी रणनीति और प्रोफेसर रामगोपाल यादव के बयानों पर जाएं तो अखिलेश गुट सपा के राष्‍ट्रीय अधिवेशन को बुलाने की तैयारी में जुटा हुआ है। इसके लिए गुट के कुछ खास विधायक और एमएलसी को जिम्‍मेदारी सौंपी गई है।

गुरुवार को कालीदास मार्ग पर बनी रणनीति और प्रोफेसर रामगोपाल यादव के बयानों पर जाएं तो अखिलेश गुट सपा के राष्‍ट्रीय अधिवेशन को बुलाने की तैयारी में जुटा हुआ है। इसके लिए गुट के कुछ खास विधायक और एमएलसी को जिम्‍मेदारी सौंपी गई है।

नई दिल्‍ली। गुरुवार को कालीदास मार्ग पर बनी रणनीति और प्रोफेसर रामगोपाल यादव के बयानों पर जाएं तो अखिलेश गुट सपा के राष्‍ट्रीय अधिवेशन को बुलाने की तैयारी में जुटा हुआ है। इसके लिए गुट के कुछ खास विधायक और एमएलसी को जिम्‍मेदारी सौंपी गई है। सूत्रों की मानें तो अधिवेशन में सीएम अखिलेश यादव को पार्टी का नेता चुना जा सकता है। तय रणनीति के तहत शिवपाल यादव को पार्टी से किनारे किया जा सकता है।

पार्टी से जुड़े सूत्रों की मानें तो बेशक कालीदास मार्ग पर बनी रणनीति को सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव समझ चुके हैं, लेकिन बावजूद इसके उसी रणनीति पर काम किया जाएगा। उसी की तैयारी में अखिलेश यादव और प्रोफेसर रामगोपाल यादव समर्थक जुटे हुए हैं। पार्टी के राष्‍ट्रीय अधिवेशन के लिए सभी पदाधिकारियों से संपर्क साधा जा रहा है। इसके लिए पांच खास विधायकों और एमएलसी को जिम्‍मेदारी दी गई है। इस टीम में एक वरिष्‍ठ मंत्री भी शामिल हैं। इन मंत्री के बारे में कहा जा रहा है कि ये पर्दे के पीछे रहकर अधिवेशन के लिए काम कर रहे हैं।

अधिवेशन को तय वक्‍त पर कराने के लिए अखिलेश समर्थकों ने पूरी ताकत लगा दी है। सूत्रों का कहना है कि अधिवेशन के दौरान अखिलेश को पार्टी की कमान सौंपी जा सकती है। पार्टी में उठापटक के लिए दोषी मानते हुए यूपी के प्रदेश अध्‍यक्ष शिवपाल यादव को पार्टी से बाहर का रास्‍ता दिखाया जा सकता है। इसके साथ ही कौमी एकता दल के सपा में विलय को भी खारिज किया जा सकता है। अतीक अहमद भी सपा से बाहर किए जा सकते हैं। जानकारों का कहना है कि अखिलेश समर्थक गुट के सभी लोगों को शनिवार तक लखनऊ पहुंचने का फरमान जारी किया गया है।

Tags: Mulayam Singh Yadav

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर