Home /News /politics /

24 घंटे ऐसे चला यूपी की सत्‍ता की उठा-पटक का खेल, बेटे से पहले पिता मुलायम ने पीटा वजीर

24 घंटे ऐसे चला यूपी की सत्‍ता की उठा-पटक का खेल, बेटे से पहले पिता मुलायम ने पीटा वजीर

सीएम अखिलेश यादव और प्रोफेसर रामगोपाल यादव की चालें 24 घंटे भी नहीं चलीं। बेटे की चाल से पहले पिता सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने ही वजीर को पीट दिया।

सीएम अखिलेश यादव और प्रोफेसर रामगोपाल यादव की चालें 24 घंटे भी नहीं चलीं। बेटे की चाल से पहले पिता सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने ही वजीर को पीट दिया।

सीएम अखिलेश यादव और प्रोफेसर रामगोपाल यादव की चालें 24 घंटे भी नहीं चलीं। बेटे की चाल से पहले पिता सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने ही वजीर को पीट दिया।

नई दिल्‍ली। सूत्रों की मानें तो सीएम अखिलेश यादव और प्रोफेसर रामगोपाल यादव की चालें 24 घंटे भी नहीं चलीं। बेटे की चाल से पहले पिता सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने ही वजीर को पीट दिया। गुरुवार की देर रात कालीदास मार्ग पर बनी रणनीति को 19 विक्रमादित्‍य मार्ग पहुंचने से पहले ही सपा सुप्रीमो ने रणनीति की हवा निकाल दी। सूत्रों का कहना है कि अखिलेश यादव की मंशा पार्टी पर कब्‍जा कर शिवपाल यादव को बाहर का रास्‍ता दिखाने की थी।

न्‍यूज 18 इण्‍डिया डॉट कॉम ने दोपहर को ही ये खबर दे दी थी कि अखिलेश यादव सपा पार्टी पर कब्‍जा कर सकते हैं। शिवपाल यादव को बाहर का रास्‍ता दिखाया जा सकता है। सूत्रों का कहना है कि इसके लिए गुरुवार की देर रात अखिलेश यादव और उनके समर्थक रणनीति बनाते रहे थे। रणनीति ये थी कि पार्टी विधायकों, पदाधिकारियों और कद्दावार मंत्रियों का समर्थन दिखाकर अखिलेश सपा सुप्रीमो को अपने पक्ष में कर लेंगे। शिवपाल यादव को निष्‍कासित करा कर मैनपुरी से सांसद धर्मेन्‍द्र यादव को प्रदेश की कमान सौंपने की तैयारी थी।

(पढ़ें-पार्टी छोड़ने के बजाय सपा सुप्रीमो बनने की तैयारी में अखिलेश, सांसद धर्मेंद्र बन सकते हैं प्रदेश अध्‍यक्ष!)

एक जनवरी को जल्‍दबाजी में सपा का राष्‍ट्रीय अधिवेशन बुलाना भी इसी कड़ी का हिस्‍सा था। ज्यादा से ज्‍यादा संख्‍या में अखिलेश समर्थक लखनऊ में जुटाए जा रहे थे। लेकिन इससे पहले ही बाजी पलट गई। किसी तरह से अखिलश और रामगोपाल यादव की बनाई रणनीति की भनक सपा सुप्रीमो को हो गई। पार्टी को लेकर अखिलेश और रामगोपाल यादव कोई कदम उठाते इससे पहले ही सपा सुप्रीमो ने दोनों को सपा से छह-छह साल के लिए निष्‍कासित कर दिया।

Tags: Mulayam Singh Yadav, Samajwadi party

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर