लाइव टीवी

उत्‍तराखंड के 15 वर्षों के इतिहास में होगा ऐसा बजट सत्र जो कभी नहीं हुआ

Faheem Tanha | ETV UP/Uttarakhand
Updated: July 18, 2016, 8:53 PM IST

उत्‍तराखंड विधानसभा में ऐसा नज़ारा विधानसभा में पहले कभी नहीं रहा है कि विधानसभा सदस्यों के 15 फीसदी सीटें सदन में खाली रह जाएं.

  • Share this:
उत्‍तराखंड विधानसभा का सत्र 21 जुलाई को शुरू हो रहा है, लेकिन सत्र में इस बार सदन के अंदर का नजारा कुछ बदला-बदला से दिखाई देगा. क्योंकि दो बीजेपी और दस कांग्रेस विधायकों की सीट खाली रहेगी. उत्तराखंड के संसदीय इतिहास में पहली बार होने जा रहा है. साथ ही बीजेपी सरकार में नेता प्रतिपक्ष की भूमिका निभाने वाले हरक सिंह भी अब बीजेपी का दामन थाम चुके हैं.

उत्तराखंड के 15 वर्षों के संसदीय इतिहास में जो कुछ इस बार बजट सत्र और उसके बाद हुआ ऐसा पहले कभी नहीं हुआ. 18 मार्च को स्थगित हुआ विधानसभा का सत्र 21 जुलाई को फिर से शुरू होने जा रहा है, लेकिन इस बार सदन का नजारा मार्च के सत्र से कुछ अलग होगा. क्योंकि 12 विधायकों की सीट खाली होगी. इसमें 10 सीटें सत्तापक्ष यानि कांग्रेस की खाली होंगी तो वहीं 2 सीटें विपक्ष यानि बीजेपी के पाले की खाली रह जाएंगी. यानि विधानसभा सत्र में 70 में से केवल 58 विधायकों का ही सदन होगा.

ऐसा नज़ारा विधानसभा में पहले कभी नहीं रहा है कि विधानसभा सदस्यों के 15 फीसदी सीटें सदन में खाली रह जाएं.

संसदीय कार्यमंत्री इंदिरा हृदयेश बीजेपी को जिम्मेदार ठहराते हुए चुटकी ले रही हैं. संसदीय कार्यमंत्री डॉ.इंदिरा हृदयेश ने कहा कि पिछले दिनों विधानसभा के अंदर और बाहर जो कुछ भी राजनीतिक घटनाक्रम हुआ वो जाहिर है सत्ता हथियाने और सत्ता से बेदखल करने के दांवपेंच का ही नज़ारा था. ये बात अलग है कि किस दांवपेंच में कौन जीता और किसको हार मिली. इन हालातों का असर ये भी हुआ है कि बीजेपी शासनकाल में जिस कांग्रेसी नेता ने नेता प्रतिपक्ष की भूमिका निभाई थी वो हरक सिंह रावत भी अब बीजेपी के पाले में चले गए हैं. यानि दो बार कांग्रेस की निर्वाचित सरकार में तो नेता प्रतिपक्ष बीजेपी के थे ही लेकिन अब बीजेपी सरकार के दौरान कांग्रेस की तरफ से नेता प्रतिपक्ष की भूमिका निभाने वाले हरक सिंह रावत भी भाजपाई हो गए हैं.



नेता प्रतिपक्ष एवं बीजेपी अध्यक्ष अजय भट्ट का कहना है कि जो कुछ हुआ उसके लिए सरकार और स्पीकर जिम्मेदार हैं. बहरहाल, विधानसभा का सत्र एक बार फिर से शुरू हो रहा है तो सदन में पहुंचते ही सत्तापक्ष और विपक्ष दोनों को 18 मार्च की जरूर याद आएगी. सदन में यूं तो सभी कुछ वैसा ही है जैसा पहले था लेकिन कमी होगी तो बस उन 12 विधायकों की जो राजनीतिक दांवपेंच में फंसकर रह गए.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बागेश्‍वर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 18, 2016, 8:53 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,095

     
  • कुल केस

    5,734

     
  • ठीक हुए

    472

     
  • मृत्यु

    166

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (08:00 AM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,099,679

     
  • कुल केस

    1,518,773

    +813
  • ठीक हुए

    330,589

     
  • मृत्यु

    88,505

    +50
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर