'आप' का राजस्थान प्रभारी बनने का मिला था ऑफर: योगेन्द्र यादव

'आप' का राजस्थान प्रभारी बनने का मिला था ऑफर: योगेन्द्र यादव
अरविंद केजरीवाल सफलता की राजनीति करते हैं. उन्हें दिल्ली की परेशानियों से कोई मतलब नहीं है.

अरविंद केजरीवाल सफलता की राजनीति करते हैं. उन्हें दिल्ली की परेशानियों से कोई मतलब नहीं है.

  • Share this:
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल सफलता की राजनीति करते हैं. उन्हें दिल्ली की परेशानियों से कोई मतलब नहीं है. यही वजह है कि आम आदमी पार्टी (आप) में खामोश रहने वालों को इनाम मिलता है. ये कहना है स्वराज इंण्डिया पार्टी के अध्यक्ष योगेन्द्र यादव का.

न्यूज 18 हिन्दी डॉट कॉम से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि अगर मैं और प्रशांत भूषण भी खामोश रहते तो राज्यसभा के सदस्य बन जाते. लेकिन हमें इस तरह की राजनीति पसंद नहीं है.

उन्होंने बताया कि पार्टी छोड़ने के बाद भी मुझे वापस बुलाने की कोशिश की जा रहीं थी. यहां तक कि राजस्थान का प्रभारी बनाने की बात तक कही गई थी.



मैं केजरीवाल से बात तक नहीं करना चाहता
मौका पड़ा तो क्या आम आदमी पार्टी में दोबारा जाएंगे. इस सवाल के जवाब में योगेन्द्र यादव का कहना है कि पार्टी में जाना तो दूर, मैं अरविंद केजरीवाल से बात तक नहीं करना चाहता हूं. पार्टी छोड़ने से लेकर आज तक मेरी केजरीवाल से कोई बातचीत नहीं हुई है.

धीरे ही सही, लेकिन सिद्धांतों से आगे बढ़ेगी स्वराज इंण्डिया

एमसीडी चुनावों में स्वराज इंण्डिया पार्टी के प्रदर्शन के बारे में योगेन्द्र यादव का कहना है कि हम सिर्फ कामयाबी में ही भरोसा नहीं करते. हमें पता था कि स्वराज इंण्डिया को अचानक कामयाबी नहीं मिलेगी. धीरे ही सही लेकिन हमारी स्वराज इंण्डिया पार्टी सिद्धांतों के साथ आगे बढ़ेगी.

ये भी पढ़ें 

सच्चा है कपिल का बिल में फर्जीवाड़े का आरोप : योगेन्द्र यादव

2019 चुनाव के लिए भानुमति का कुनबा बना तो औंधे मुंह गिरेगा- योगेन्द्र
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज