योगेंद्र यादव ने लिखा कपिल मिश्रा के नाम खुला खत, दी नसीहत

योगेंद्र यादव ने लिखा कपिल मिश्रा के नाम खुला खत, दी नसीहत
योगेन्द्र यादव और प्रशांत भूषण जैसे थिंक टैंक ने छोड़ी पार्टी

कपिल मिश्रा के माफी मांगने के बाद योगेंद्र यादव ने उनके नाम एक खुली चिट्ठी लिखी है.

  • Share this:
आम आदमी पार्टी से निकाले जाने के बाद कपिल मिश्रा लगातार अरविंद केजरीवाल पर हमले कर रहे हैं. रविवार को कपिल मिश्रा ने पार्टी के पूर्व नेता योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण से माफी मांगी थी. मिश्रा ने कहा कि अरविंद केजरीवाल के कहने पर उन्होंने यादव औप भूषण को अपशब्द कहे थे.

उनके इस बयान के बाद पूर्व आप नेता योगेंद्र यादव ने फेसबुक पर कपिल मिश्रा को एक खुली चिट्ठी लिखी है. यादव ने कपिल मिश्रा को नसीहत दी कि उन्हें अरविंद केजरीवाल पर रोज-रोज आरोप लगाना बंद करना चाहिए. यादव ने लिखा- 'आपको प्रायश्चित शोभा देता है प्रतिशोध नहीं'.

योगेंद्र यादव ने लिखा कि काफी वक्त बीत गया है, लेकिन अब भी जब उन्हें सब याद आता है वह सिहर उठते हैं. उन्होंने कपिल मिश्रा से कहा कि उन्हें उन हजारों कार्यकर्ताओं, लाखों समर्थकों और करोड़ों देशवासियों से माफी मांगनी चाहिए जिनके साथ धोखा हुआ है. उन्होंने लिखा कि कपिल मिश्रा ने गलती के बाद माफी मांगने की हिम्मत दिखाई, यह हिम्मत दिखाना बड़ी बात है.



मिश्रा को सुझाव देते हुए यादव ने लिखा कि उन्हें रोज-रोज केजरीवाल के खिलाफ प्रेस कॉन्फ्रेंस करना बंद कर देना चाहिए. उन्होंने कहा कि उनके रोज-रोज आरोप लगाने से आम आदमी पार्टी साफ नहीं हो जाएगी, उल्टे लोगों का ईमानदार राजनीति से भरोसा उठ जाएगा.
उन्होंने तीखे शब्दों में मिश्रा से यह भी कहा कि जो आरोप वो लगा रहे हैं, उनके बारे में पता होने के बाद भी वह दो साल तक आम आदमी पार्टी में रहे. योगेंद्र यादव ने लिखा कि नकारात्मकता की राजनीति न देश के लिए अच्छी है और न उनके लिए.

यहां पढ़ें योगेंद्र यादव का पूरा पोस्टः


आम आदमी पार्टी के फाउंडिंग मेंबर्स में से एक रहे योगेंद्र यादव को 4 मार्च 2015 को आप की पॉलिटिकल अफेयर कमिटी के बाहर निकाला गया था. इसके बाद 28 मार्च को पार्टी विरोधी गतिविधियों का आरोप लगाते हुए उन्हें पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी से बाहर कर दिया गया. इसके बाद अप्रैल में उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया था. पार्टी से निकाले जाने के बाद योगेंद्र यादव ने कहा था कि उन्होंने पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल की तानाशाही के खिलाफ आवाज उठाई इसलिए उन्हें निशाना बनाया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading