Home /News /punjab /

अदिति सिंह के पति को पंजाब में टिकट मिलेगा या नहीं? CEC की तीसरी बैठक के बाद भी नहीं सुलझा पेंच

अदिति सिंह के पति को पंजाब में टिकट मिलेगा या नहीं? CEC की तीसरी बैठक के बाद भी नहीं सुलझा पेंच

अंगद सिंह पंजाब के नवांशहर से विधायक हैं.

अंगद सिंह पंजाब के नवांशहर से विधायक हैं.

Assembly Elections 2022: अदिति सिंह हाल ही में अपने विधायक पद से इस्तीफा देकर कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुई है. पिछला विधानसभा चुनाव उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर रायबरेली से लड़ा और जीता था. अदिति, अखिलेश सिंह की बेटी हैं. अखिलेश सिंह भी रायबरेली से कई बार विधायक रह चुके हैं. कांग्रेस छोड़ भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने के बाद अदिति सिंह लगातार प्रियंका गांधी और गांधी परिवार पर निशाना साध रही हैं.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. कांग्रेस (Congress) छोड़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल हो चुकी अदिति सिंह (Aditi Singh) के पति अंगद सिंह (Angad Singh) के टिकट को लेकर स्थिति साफ नहीं हो सकी है. सूत्र ने जानकारी दी है कि पंजाब को लेकर सीईसी की तीसरी बैठक में भी सिंह के टिकट का पेंच नहीं सुलझ सका है. भाजपा ने उत्तर प्रदेश के रायबरेली सीट से अदिति को मैदान में उतारा है. अंगद पंजाब के नवांशहर से विधायक हैं.

सीईसी की बैठक में शामिल एक सदस्य ने बताया कि पार्टी के अंदर कुछ नेता नहीं चाहते कि अंगद को टिकट मिले क्योंकि अदिति सिंह प्रियंका गांधी और गांधी परिवार पर हमलावर हैं. नवांशहर से अंगद की मां और दूसरे संबंधी और किसी तीसरे को भी टिकट देने के विकल्प पर विचार किया जा रहा है. नवांशहर सीट के अलावा बाकी 7 सीटों पर भी संशय बना हुआ है. सीईसी की बैठक में कोई अंतिम फैसला नहीं हो सका.

सूत्र के मुताबिक, अब पंजाब के लिए गठित सबकमेटी इन सीटों पर नाम तय कर कांग्रेस अध्यक्ष से सहमति लेगी. हालांकि, इस बात की संभावना कम है कि अब पंजाब पर सीईसी की बैठक बुलाई जाए.

कौन हैं अदिति सिंह ?
अदिति सिंह हाल ही में अपने विधायक पद से इस्तीफा देकर कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुई है. पिछला विधानसभा चुनाव उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर रायबरेली से लड़ा और जीता था. अदिति, अखिलेश सिंह की बेटी हैं. अखिलेश सिंह भी रायबरेली से कई बार विधायक रह चुके हैं. कांग्रेस छोड़ भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने के बाद अदिति सिंह लगातार प्रियंका गांधी और गांधी परिवार पर निशाना साध रही हैं.

रायबरेली से भाजपा उम्मीदवार सिंह ने शनिवार को ही कांग्रेस नेतृत्व पर सवाल उठाए थे. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, कांग्रेस नेतृत्व के गंभीर संकट से जूझ रही है. साथ ही उन्होंने विधानसभा चुनाव में भाजपा की जीत का दावा किया. एजेंसी से बातचीत में उन्होंने कहा था, ‘कांग्रेस में कोई वेटेज नहीं है और पार्टी में नेतृत्व का गंभीर संकट है. कांग्रेस के पास राज्य को 5 साल देखने का समय नहीं है, वे यहां केवल चुनाव से पहले आते हैं. यूपी में लोग भाजपा का सत्ता में दोबारा स्वागत करने के लिए तैयार हैं.’

Tags: Assembly elections, Punjab Election

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर