• Home
  • »
  • News
  • »
  • punjab
  • »
  • मोगा में किसानों पर लाठीचार्ज के बाद SAD ने रद्द की रैलियां, सुखबीर बादल बोले- करेंगे बात

मोगा में किसानों पर लाठीचार्ज के बाद SAD ने रद्द की रैलियां, सुखबीर बादल बोले- करेंगे बात

शिअद में पार्टी का विरोध कर रहे किसानों को कृषि कानूनों पर पार्टी के रुख को स्पष्ट करने के लिए किसानों को बातचीत के लिए भी आमंत्रित किया है.

शिअद में पार्टी का विरोध कर रहे किसानों को कृषि कानूनों पर पार्टी के रुख को स्पष्ट करने के लिए किसानों को बातचीत के लिए भी आमंत्रित किया है.

Punjab Politics Update: सुखबीर बादल ने कहा है कि हम किसान आंदोलन का पुरजोर समर्थन करते रहे हैं. हम संयुक्त किसान मोर्चा के (एसकेएम) के किसी भी नेता के हर सवाल का जवाब देने के लिए तैयार हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    चंडीगढ़. राज्य भर में किसानों के विरोध का सामना कर रहे शिरोमणि अकाली दल (Shiromani Akali Dal) ने अपनी ‘गल पंजाब दी’ यात्रा को एक सप्ताह के लिए रोक दिया है. मोगा में शिअद प्रधान सुखबीर बादल (Sukhbir Badal) की जनसभा के दौरान किसानों का विरोध झेलना पड़ा था. इस दौरान हुए पुलिस के लाठचार्ज में कई किसान घायल हो गए थे. जिसके बाद शिअद ने अपनी सभी जनसभाएं 11 सितंबर तक स्थगित कर दी हैं. शिअद में पार्टी का विरोध कर रहे किसानों को कृषि कानूनों पर पार्टी के रुख को स्पष्ट करने के लिए किसानों को बातचीत के लिए भी आमंत्रित किया है.

    सुखबीर बादल ने कहा है कि हम किसान आंदोलन का पुरजोर समर्थन करते रहे हैं. हम संयुक्त किसान मोर्चा के (एसकेएम) के किसी भी नेता के हर सवाल का जवाब देने के लिए तैयार हैं. पार्टी की कोर कमेटी की बैठक की अध्यक्षता करने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए सुखबीर ने कहा कि समिति ने कानून-व्यवस्था की समस्या से बचने के लिए 100 दिवसीय राज्यव्यापी यात्रा को पुनर्निर्धारित करने का फैसला किया है.

    उन्होंने कहा कि तीन सदस्यीय समिति, जिसमें बलविंदर सिंह भुंदर, प्रेम सिंह चंदूमाजरा और मनजिंदर सिंह सिरसा शामिल हैं, किसान संगठनों से बात कर उनके आंदोलन को पार्टी के अडिग समर्थन को दोहराने और गलतफहमी को खत्म करने के लिए बात करेगी.

    बादल ने कहा कि किसान संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत के खुले अवसर की सुविधा के लिए कार्यक्रम को पुनर्निर्धारित किया गया है. गल पंजाब दी अभियान 11 सितंबर को अमलोह से फिर से शुरू होगा. उन्होंने पंजाब के लोगों को ‘पंजाब विरोधी, किसान विरोधी और सिख विरोधी ताकतों द्वारा शांति और सांप्रदायिक सद्भाव के माहौल को खराब करने की गहरी साजिश’ के खिलाफ आगाह किया है. उन्होंने आरोप लगाया कि ये ताकतें केंद्रीय एजेंसियों के इशारे पर काम कर रही हैं और उन्हें कांग्रेस और आप का सक्रिय समर्थन प्राप्त है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज