अपना शहर चुनें

States

Farmer Protest: कृषि कानून के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने भाजपा नेता के घर के बाहर गोबर से भरी ट्रॉली पलटी

कृषि कानून के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने भाजपा नेता के घर के बाहर गोबर फेंका.
कृषि कानून के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने भाजपा नेता के घर के बाहर गोबर फेंका.

पंजाब (Punjab) के होशियारपुर (Hoshiarpur) में हुई इस घटना के बाद मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) को नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों को चेताना पड़ा कि वे कानून अपने हाथ में नहीं लें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 4, 2021, 2:35 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. केंद्र सरकार के तीन कृषि कानून (Agriculture law) के विरोध में पंजाब (Punjab) के होशियारपुर (Hoshiarpur) में शुक्रवार को कुछ लोगों ने भाजपा नेता (BJP Leader) के घर के बाहर गोबर (Cow Dung) से भरी ट्रॉली पलट दी. इसके बाद मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) को नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों को चेताना पड़ा कि वे कानून अपने हाथ में नहीं लें. सीएम अमरिंदर सिंह ने कहा, प्रदर्शन के नाम पर किसी का भी उत्पीड़न नहीं होने दिया जाएगा.

बता दें कि कुछ लोगों ने हरियाणा में पंजाब के पूर्व मंत्री तीक्ष्ण सूद के घर के बाहर ट्रॉली में भरा गोबर बिखेर दिया. माना जाता है कि ये लोग किसान थे. उन्होंने किसानों के प्रति केंद्र के कथित उदासीन रवैये के खिलाफ नारेबाजी भी की. इसके बाद सूद के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ताओं ने राय बहादुर जोधमल रोड पर धरना दिया और गोबर फेंकने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. इस बीच पंजाब भाजपा प्रमुख अश्विनी कुमार शर्मा ने घटना की निंदा की. उन्होंने कहा कि किसानों के रूप में आए कुछ शरारती लोगों ने सूद के आवास पर हमला कर दिया है और ऐसा सिर्फ राज्य की शांति और भाईचारे को बाधित करने के लिए किया गया है.

इसे भी पढ़ें :- किसान आंदोलन के बीच 800 से ज्यादा शिक्षाविदों ने किया कृषि कानूनों का समर्थन
पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने घटना का कड़ा संज्ञान लिया है और कहा कि निजता पर हमले से किसानों के आंदोलन का नाम और मकसद खराब होगा. उन्होंने किसानों को चेताया कि वे किसान अधिकारों के लिए अपनी लड़ाई में कानून को हाथ में ना लें. मुख्यमंत्री ने एक बयान में प्रदर्शनकारियों से संयम की अपील की.





इसे भी पढ़ें :- Kisan Andolan: किसानों की धमकी- 4 जनवरी को अगर बात नहीं बनी तो बंद करेंगे पेट्रोल पंप और मॉल

सिंह ने कहा कि ऐसी हरकतों से विविध जातियों, धर्मों और समुदायों के बीच बना शांति और सद्भावना का माहौल खराब होगा. उन्होंने कहा कि ऐसी हरकतों और राजनीतिक नेताओं या कार्यकर्ताओं के परिवार को परेशान करने से पंजाब में कानून एवं व्यवस्था में समस्या की स्थिति बन सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज