अपना शहर चुनें

States

अमरिंदर सिंह बोले- किसानों को कानूनी मदद के लिए पंजाब सरकार ने नियुक्त किये 70 वकील

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने (तस्वीर-ANI)
कैप्टन अमरिंदर सिंह ने (तस्वीर-ANI)

पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने कहा कि पंजाब सरकार ने दिल्ली में 70 वकीलों को नियुक्त किया है ताकि किसानों को कानूनी सहायता मिल सके.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 2, 2021, 6:52 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh ) ने सोमवार को कहा कि पंजाब सरकार ने दिल्ली में 70 वकीलों को नियुक्त किया है ताकि किसानों (Farmers) को कानूनी सहायता मिल सके.अमरिंदर ने कहा कि उनकी सरकार ने एक हेल्पलाइन नंबर 112 की भी घोषणा की है, जिस पर लोगों को गणतंत्र दिवस ट्रैक्टर परेड के बाद 'लापता व्यक्तियों' के बारे में रिपोर्ट करने के लिए कहा गया है.

एक ट्वीट में, पंजाब के सीएम ने कहा: 'पंजाब सरकार ने दिल्ली में 70 वकीलों की एक टीम की व्यवस्था की है, ताकि दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए किसानों को तुरंत कानूनी मदद मिल सके. मैं व्यक्तिगत रूप से गृह मंत्रालय के साथ लापता किसानों के मुद्दे को उठाऊंगा और इन लोगों को सुरक्षित घर तक पहुंचना सुनिश्चित करूंगा. मदद के लिए 112 पर कॉल करें.'

सीएम ने यह भी बताया कि उनके मंत्रिमंडल के सहयोगियों ने सोमवार को इस मुद्दे पर दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री से मुलाकात की. हालांकि इस दौरान भी पंजाब कांग्रेस के भीतर मतभेद एक बार फिर खुलकर आ गए. कांग्रेस के नेताओं की दो अलग-अलग टीमों ने  गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की. एक टीम में कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी, कैबिनेट मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा शामिल थे. तो वहीं दूसरी ओर पार्टी के राज्यसभा सांसद प्रताप सिंह बाजवा ने अलग से शाह से मुलाकात की.  दोनों टीमों ने शाह के सामने गणतंत्र दिवस के बाद से गायब किसानोें का मुद्दा उठाया.







बिना फीस लिए किसानों की कानूनी लड़ाई लड़ेंगे
इन मुलाकातों के बाद पंजाब सरकार ने राज्य के 120 लोगों की विस्तृत सूची जारी की है जिन्हें ट्रैक्टर परेड के दौरान दर्ज विभिन्न मामलों में दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है. रंधावा और सरकारिया ने बाद में कहा कि दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तार लोगों की कानूनी लड़ाई लड़ने के लिए पंजाब सरकार ने 70 वकीलों की टीम बनायी है, जिसने काम शुरू कर दिया है. उन्होंने कहा कि वकील गिरफ्तार किए गए व्यक्ति और उनके परिजन से मिलेंगे और बिना फीस लिए उनकी कानूनी लड़ाई लड़ेंगे.

मंत्रियों ने कहा कि उन्होंने केन्द्र सरकार से गिरफ्तार लोगों के साथ नरमी से पेश आने की अपील की है. रंधावा ने कहा कि बैठक में शाह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों की सूची गह मंत्रालय की वेबसाइट पर अपलोड कर दी गई है और अगर राज्य सरकार अन्य लापता लोगों की कोई सूची देती है तो केन्द्र उनके बारे में पता लगाने में कोई कोर-कसर बाकी नहीं रखेगा. कृषि कानूनों को लेकर केन्द्र और किसान यूनियनों के बीच गतिरोध को लेकर रंधावा ने कहा कि गृहमंत्री ने बताया कि केन्द्र सरकार बातचीत करने के लिए तैयार है और इस बारे में किसानों के जवाब का इंतजार है.

दूसरी ओर मनीष तिवारी के मुताबिक, उन्होंने और पंजाब सरकार के मंत्रियों सुखजिंदर रंधावा, सुख सरकारिया और राजकुमार छबेवाल ने बजट पेश होने के बाद शाह से मुलाकात की. उन्होंने ट्वीट किया, ‘बजट के बाद अमित शाह से मुलाकात की. हमने उनसे आग्रह किया कि किसानों के प्रदर्शन के दौरान हिरासत में लिए गए और गिरफ्तार किए गए लोगों की सूची सार्वजनिक की जाए ताकि उन्हें कानूनी कदम उठाने का मौका मिले.’ तिवारी ने बताया कि दिल्ली पुलिस यह सूची अपनी वेबसाइट पर जारी करने जा रही है.

रंधावा ने कहा कि उन्हें सीएम ने दिल्ली भेजा था. दो दिन पहले ही शाह से समय मांगा गया था. रंधावा ने दावा किया कि गायब किसानों के मुद्दे पर शाह ने आश्वासन दिया है कि वह इस मामले में पूरी मदद करेंगे. वहीं द इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार बाजवा ने बताया कि उन्होंने दो दिन पहले शाह से समय मांगा था और अपॉइंटमेंट पहले से तय थी. बाजवा ने कहा कि शाह ने हर तरह की मदद का आश्वासन दिया. हमने उनसे आग्रह किया कि जिन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. उन लोगों से नरमी से पेश आएं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज