Home /News /punjab /

former punjab health minister vijay singla now radar on ed

अब ईडी के निशाने पर हैं हवालात में बंद पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री सिंगला, स्टिंग ऑपरेशन के जरिए हुआ था खुलासा

हवालात में बंद पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री डॉ विजय सिंगला अब प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की भी जांच के दायरे में हैं (फोटो-ANI)

हवालात में बंद पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री डॉ विजय सिंगला अब प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की भी जांच के दायरे में हैं (फोटो-ANI)

स्टिंग ऑपरेशन के दौरान एक ऑडियो क्लिप जो रिकॉर्ड की गई है, जिसमें सिंगला के विशेष अधिकारी (ओएसडी) को स्वीकृत सरकारी टेंडरों पर "शुकराना" (कमीशन) की मांग करते हुए सुना गया था

चंडीगढ़. हवालात में बंद पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. विजय सिंगला अब प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की भी जांच के दायरे में हैं. बताया जा रहा है कि ईडी को सिंगला के खिलाफ एफआईआर की कॉपी मिली है, ताकि वह इसकी जांच कर सके. ईडी के सूत्रों ने कहा कि मीडिया रिपोर्ट्स से उन्हें उपलब्ध प्रारंभिक जानकारी के अनुसार सिंगला का मामला धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) की धाराओं के तहत आता है, लेकिन फिर भी वे पहले इसकी जांच करेंगे. स्टिंग ऑपरेशन के दौरान एक ऑडियो क्लिप जो रिकॉर्ड की गई है, जिसमें सिंगला के विशेष अधिकारी (ओएसडी) को स्वीकृत सरकारी टेंडरों पर “शुकराना” (कमीशन) की मांग करते हुए सुना गया था, जांच के लिए महत्वपूर्ण सबूत है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट में ईडी के सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि अगर इस ऑडियो क्लिप में बताए गए किसी ठेकेदार को सरकारी ठेके देने के एवज में पैसा कमाया जा रहा है तो ऐसे मामले की ईडी द्वारा मामला दर्ज करने के बाद आगे की जांच की जा सकती है. सिंगला के ईडी के निशाने पर आने की बात करते हुए ईडी के सूत्रों ने हाल ही में अवैध रेत खनन के एक मामले का हवाला दिया जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के भतीजे भूपिंदर सिंह हनी पर ईडी द्वारा पीएमएलए की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था और गिरफ्तार किया गया था. ईडी के सूत्रों ने कहा कि उस मामले में हनी का नाम भी पुलिस एफआईआर में नहीं था, जो 2018 में दर्ज किया गया था. लेकिन फिर भी हनी को ईडी ने गिरफ्तार किया था क्योंकि उसके साथी कुदरतदीप सिंह पर मामला दर्ज किया गया था.

पीएमएलए की धाराओं के तहत बनता है मामला
हनी के परिसरों पर ईडी की छापेमारी के दौरान, बड़ी मात्रा में धन बरामद किया गया था. बाद में हनी ने ईडी के समक्ष स्वीकार किया कि उसने यह धन अवैध रेत खनन और अधिकारियों के स्थानांतरण के माध्यम से अर्जित किया था. अब सिंगला के मामले में भी मंत्री के ओएसडी ने ठेकेदार से करोड़ों रुपये की बड़ी राशि की मांग की थी और 5 लाख रुपये में सौदा किया गया था और इस तरह से धन का संचय पीएमएलए की विभिन्न धाराओं के तहत जांच के लिए एक उपयुक्त मामला है.

(रिपोर्ट -एस सिंह)

Tags: ED, Punjab

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर