अमृतसर: श्मशान के हालात से मेल नहीं खाते सरकारी आंकड़े, कोविड से हुई मौत पर उठे सवाल

शिवपुरी श्मशान में नए प्लेटफॉर्म तैयार किए जा रहे हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

शिवपुरी श्मशान में नए प्लेटफॉर्म तैयार किए जा रहे हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Coronavirus Deaths: शिवपुरी श्मशान में अप्रैल महीने में कुल 791 पार्थिव शरीर लाए गए हैं. इनमें से 166 मौतें कोविड-19 (Covid-19) की वजह से हुईं. जबकि, आधिकारिक रूप से 625 मौतों का कारण कुछ और था.

  • Share this:

अमृतसर. पंजाब (Punjab) के प्रमुख शहरों में से एक अमृतसर (Amritsar) में कोविड से होने वाली मौत के सरकारी आंकड़े वास्तविकता से मेल नहीं खा रहे हैं. पंजाब स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, अमृतसर जिले के ग्रामीण और शहरी इलाकों में अप्रैल महीने में 283 मौतें कोविड से हुई हैं. वहीं, शहर के दो प्रमुख श्मशानों (Crematoriums) में बढ़ते दाहसंस्कार के आंकड़े मृत्यु दर के ऊपर जाते ग्राफ की ओर इशारा कर रहे हैं.

शहर के दुर्गियाना मंदिर के पास मौजूद शिवपुरी श्मशान और गुरुद्वारा बाबा दीप सिंह के नजदीक शहीदां श्मशान के प्रभारियों के अनुसार, अप्रैल में 1 हजार से ज्यादा दाहसंस्कार हुए हैं. खास बात है कि इन दोनों श्मशान में शहर की आबादी के पार्थिव शरीरों को लाया जाता है. वहीं, जिले के हर गांव के पास अपनी खुद की एक श्मशान भूमि है.

कोविड से मौतों के चलते हालात इतने खराब हो गए हैं कि शिवपुरी श्मशान में नए प्लेटफॉर्म तैयार किए जा रहे हैं. द इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में यहां के प्रबंधक रमेश चंद्र शर्मा कहते हैं 'हम नए प्लेटफॉर्म का निर्माण करा रहे हैं, क्योंकि मृत शरीरों का संख्या कई बार बढ़ जाती है.' उन्होंने जानकारी दी 'आम दिनों में यहां हर रोज 10 से 12 शवों लाए जाते थे, लेकिन अब करीब 25 से 30 दाहसंस्कार रोज हो रहे हैं.'

COVID-19 in India: बेकाबू हुआ कोरोना! 24 घंटे में आए रिकॉर्ड 4.14 लाख केस, महाराष्‍ट्र में फिर बढ़ा खतरा
शर्मा के अनुसार, अकेले शिवपुरी श्मशान में अप्रैल महीने में कुल 791 पार्थिव शरीर लाए गए हैं. इनमें से 166 मौतें कोविड की वजह से हुईं. जबकि, आधिकारिक रूप से 625 मौतों का कारण कुछ और था. उन्होंने कहा कि हर महीने कोविड के अलावा किसी वजह से जान गंवाने वाले 300 शरीरों का अंतिम संस्कार होता था, लेकिन अकेले अप्रैल में यह आंकड़ा 600 पर पहुंच गया. उन्होंने सवाल उठाया है कि कोविड के अलावा अन्य कारणों से होने वाली मौतों के आंकड़े अचानक दोगुने कैसे हो सकते हैं.


www.covid19india.org के आंकड़े बताते हैं कि पंजाब में अब तक कोरोना वायरस के 4 लाख 16 हजार 350 मामले सामने आ चुके हैं. वहीं, मौतों का आंकड़ा 10  हजार के करीब है. राज्य में फिलहाल एक्टिव केस की संख्या 66 हजार 568 है. वेबसाइट से मिले आंकड़ों के अनुसार, अमृतसर जिले में 35 हजार 600 मरीज मिल चुके हैं. वहीं, 1 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज