इस राज्‍य में होम क्‍वारंटाइन में रह रहे लोगों की अब GPS से होगी निगरानी!
Amritsar News in Hindi

इस राज्‍य में होम क्‍वारंटाइन में रह रहे लोगों की अब GPS से होगी निगरानी!
विधायक के संपर्क में आए लोगों की जानकारी ली जा रही है.

सिम कार्ड से लैस जीपीएस ट्रैकर (GPS) को घर में पृथक-वास के दिशा निर्देशों का उल्लंघन करने वालों को पकड़ने के लिए राज्य सरकार के कोवा एप से जोड़ा जा सकता है.

  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब सरकार (Punjab Government) कोविड-19 (Covid 19) के संबंध में घर में पृथक-वास (Home Quarantine) करने के दिशा निर्देशों का उल्लंघन करने वालों पर नजर रखने के लिए ग्लोबल पॉजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) ट्रैकर खरीदने पर विचार कर रही है. एक अधिकारी ने बुधवार को बताया कि सिम कार्ड से लैस ट्रैकर को घर में पृथक-वास के दिशा निर्देशों का उल्लंघन करने वालों को पकड़ने के लिए राज्य सरकार के कोवा एप से जोड़ा जा सकता है.

राज्य सरकार ने एहतियात बरतने संबंधी सूचना और सरकार के अन्य परामर्शों को लोगों को उपलब्ध कराने के लिए कोवा पंजाब (कोरोना वायरस अलर्ट) एप बनाया है. पंजाब के विशेष सचिव एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी (ई-गवर्नेंस) रवि भगत ने बुधवार को बताया, ‘‘यह कलाई पर बंधने वाला जीपीएस आधारित ट्रैकर है. अगर घर में पृथक-वास कर रहा कोई शख्स बाहर जाकर दिशा निर्देशों का उल्लंघन करता है तो यह एक अलर्ट भेजेगा.’’

उन्होंने बताया, '14 दिन की पृथक-वास की अवधि पूरी होने के बाद इसे फिर से इस्तेमाल किया जा सकता है.' भगत ने कहा कि जीपीएस आधारित ट्रैकर खरीदने पर बातचीत चल रही है. स्वास्थ्य विभाग ने अभी इस पर फैसला नहीं लिया है. पंजाब में अभी करीब 20,000 लोग घरों में पृथक-वास कर रहे हैं. इनमें वे लोग भी शामिल हैं जो अन्य राज्यों से लौटे हैं.



दिशा निर्देशों के मुताबिक घर में पृथक-वास कर रहे लोगों को अपने मोबाइल फोन पर कोवा एप डाउनलोड करना होता है ताकि उनकी गतिविधियों पर नजर रखी जा सके.
ऐसी खबरें हैं कि घर में पृथक-वास कर रहे कई लोगों ने कोवा एप डाउनलोड नहीं किया जबकि कुछ ने जीपीएस और ब्लूटूथ चालू नहीं किया और कुछ लोग अपने मोबाइल फोन घरों में रखकर बाहर चले जाते हैं. राज्य सरकार ने कोविड-19 वैश्विक महामारी को फैलने से रोकने के लिए घर पर पृथक-वास के दिशा निर्देशों का उल्लंघन करने पर जुर्माना राशि 500 रुपये से बढ़ाकर 2,000 रुपये कर दी है.

यह भी पढ़ेंं :
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज