सुखबीर बादल बोले-सत्ता में आए तो आंदोलन में मारे गए किसानों के परिजन को देंगे नौकरी

सुखबीर सिंह बादल ने एक बार फिर कृषि कानून के विरोध में बैठे किसानों का किया समर्थन. (फाइल फोटो)

भाजपा( BJP) को छोड़कर पंजाब में अन्य राजनीतिक दल जैसे कांग्रेस (Congress), शिरोमणि अकाली दल (Shiromani akali dal) और आम आदमी पार्टी (Aam adami party) किसानों के आंदोलन का समर्थन कर रहे हैं.

  • Share this:
    चंडीगढ़. पंजाब में आगामी विधानसभा चुनाव (Upcoming assembly elections) को लेकर राजनीतिक दलों (Political parties) ने अपनी गतिविधियां तेज कर दी हैं. सभी राजनीतिक दलों की नजर केंद्र के तीन कृषि कानूनों (Three agricultural laws of the Centre) के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों (Farmers agitating) पर टिकी हुई हैं. भाजपा (BJP) को छोड़कर पंजाब में अन्य राजनीतिक दल जैसे कांग्रेस (Congress), शिरोमणि अकाली दल (Shiromani akali dal) और आम आदमी पार्टी (Aam adami party) किसानों के आंदोलन का समर्थन कर रहे हैं.

    इसी बीच शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर बादल ने एक अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो जारी कर किसानों को संदेश दिया है कि यदि 2022 में शिअद-बसपा की सरकार आती है तो आंदोलन में शहीद हुए किसान के परिवारों के एक-एक सदस्य को सरकारी नौकरी व उनके बच्चे और पोते पोतियों को स्नातकोत्तर तक मुफ्त शिक्षा दी जाएगी. इसके अलावा बादल ने ऐलान किया कि शहीद किसान के हर परिवार को सरकार स्वास्थ्य बीमा लाभ भी देगी.

    इसे भी पढ़ें :- कोटकपूरा गोलीकांड: हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाएगी पंजाब सरकार, तैयार की SLP

    सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि पिछले सात महीनों से पंजाब के किसान केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर धरना दे रहे हैं. वे तपती हुई गर्मी में भी विकट परिस्थतियों में अपने अधिकारों की लड़ाई लड़ रहे हैं. उनके साथ काफी महिलाएं भी धरने पर डटी हुई हैं. उन्होंने कहा कि इस आंदोलन में कई किसानों को अपनी जान गवांनी पड़ी है. बादल ने कहा कि जानकारी के मुताबिक आंदोलन में 500 से अधिक किसान अपनी जान गंवा चुके हैं.

    सुखबीर ने कहा कि अगर 2022 में शिरोमणि अकाली दल (शिअद)-बसपा गठबंधन सत्ता में आता है, तो पार्टी द्वारा सबसे पहले किसान आंदोलन के शहीदों का सम्मान किया जाएगा. बादल ने राज्य में लगाए जा रहे पावर कट को लेकर भी चिंता जाहिर ही है. उन्होंने कहा कि अकाली सरकार के समय में लोगों को 24 घंटे बिजली मुहैया करवाई जाती थी, जबकि ऐसा करने में कैप्टन सरकार विफल रही है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.