होम /न्यूज /पंजाब /

बठिंडा में नशे की ओवरडोज से युवक की मौत, अस्पताल से शव कंधे पर उठाकर भागे परिजन

बठिंडा में नशे की ओवरडोज से युवक की मौत, अस्पताल से शव कंधे पर उठाकर भागे परिजन

युवक के अस्पताल में दम तोड़ने के बाद चुपके से परिजन शव को कंधे पर उठाकर ले गए थे.

युवक के अस्पताल में दम तोड़ने के बाद चुपके से परिजन शव को कंधे पर उठाकर ले गए थे.

मौका पाते ही मृतक के परिवार वालों में से एक व्यक्ति ने लाश को कंधे पर उठा लिया और वह अस्पताल से बाहर भाग आया और उसने लाश को एक टेंपो में रखवा दिया. ईएमओ ने इस संबंध में पुलिस को शिकायत दी, जिसके बाद टेंपो से लाश को उतरवाकर दोबारा अस्पताल पहुंचाया गया.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

बठिंडा में 12 दिन में चिट्टे से 7 युवकों की मौत हो चुकी है
चिट्‌टे का ओवर डोज लेने के बाद बिगड़ी थी युवक की हालत
पंजाब में ड्रग्स के अवैध व्यापार पर उड़ता पंजाब नाम की फिल्म भी बन चुकी है

चंडीगढ़. पंजाब में चिट्टे से आए दिन युवकों की मौत हो रही है. बठिंडा में एक युवक की चिट्टे की डोज लेने बाद मौत होने पर जब उसकी लाश को एक स्वयं सेवी संस्था ने अस्पताल पहुंचाया तो मृतक के परिवार के लोग उसकी लाश को मोर्चरी से उठाकर भाग गए. अस्पताल में शोर मचने के बाद पुलिस को सूचित किया गया और पुलिस ने लाश को दोबारा से मोर्चरी में रखवाया.

जानकारी के मुताबिक युवक शहर के हंस नगर की गली नंबर 9 का रहने वाला था. श्री हनुमान सेवा समिति के अध्यक्ष सोहन माहेश्वरी ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि युवक ने घर पर चिट्‌टे का डोज लगया था जिसके बाद वह बेहोश हो गया. समिति ने युवक को अस्पताल पहुंचाया, लेकिन डॉक्टरों ने अस्पताल में युवक को मृत घोषित कर दिया. वहां उपस्थित युवक के परिवार वाले युवक की लाश को बिना पोस्टमार्टम के घर ले जाना चाहते थे, लेकिन ऐसा करने से अस्पताल प्रशासन ने इनकार कर दिया. परिवार के लोगों ने समिति से एंबुलेंस में युवक की लाश को घर ले जाने का आग्रह किया था, लेकिन समिति ने इनकार कर दिया था.

मौका पाते ही मृतक के परिवार वालों में से एक व्यक्ति ने लाश को कंधे पर उठा लिया और वह अस्पताल से बाहर भाग आया और उसने लाश को एक टेंपो में रखवा दिया.  ईएमओ ने इस संबंध में पुलिस को शिकायत दी, जिसके बाद टेंपो से लाश को उतरवाकर दोबारा अस्पताल पहुंचाया गया.  श्री हनुमान सेवा समिति के एंबुलेंस इंचार्ज तरसेम गर्ग ने बताया कि युवक के पास एक सिरिंज मिली थी. एक रिपोर्ट के मुताबिक बठिंडा में 12 दिन में चिट्टे से 7 युवकों की मौत हो चुकी है. समिति द्वारा लोगों से अपील है की आपके आसपास कोई नशा करता है तो पुलिस को इसकी सूचना दे ताकि उन्हें बचाया जा सके.

अगली ख़बर