Home /News /punjab /

पंजाब चुनाव: भगवंत मान Vs सीएम चन्नी में होगा अहम मुकाबला?, बीजेपी, अकाली दल इस लड़ाई में क्यों पिछड़े? जानें 

पंजाब चुनाव: भगवंत मान Vs सीएम चन्नी में होगा अहम मुकाबला?, बीजेपी, अकाली दल इस लड़ाई में क्यों पिछड़े? जानें 

पंजाब विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच अहम मुकाबला

पंजाब विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच अहम मुकाबला

Punjab Assembly Election 2022: पंजाब के चुनावी मैदान में 5 राजनीतिक दलों के होने से यहां मुकाबला रोचक हो गया है हालांकि राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि इस चुनाव में अहम मुकाबला सत्तारूढ़ कांग्रेस सरकार और आम आदमी पार्टी के बीच होगा. जबकि बीजेपी, शिरोमणि अकाली दल समेत अन्य पार्टियां इस रेस में काफी पीछे हैं.

अधिक पढ़ें ...

चंडीगढ़:  पंजाब असेंबली इलेक्शन में 5 राजनीतिक दलों की लड़ाई ने चुनावों को रोचक बना दिया है. 2017 के विधानसभा चुनाव में अकाली दल भाजपा गठबंधन (SAD-BJP Alliance), कांग्रेस Congress और आम आदमी पार्टी (AAP) में कड़ा मुकाबला माना जा रहा था, लेकिन कैप्टन अमरिंदर सिंह की पंजाब लोक कांग्रेस (Punjab Lok Congress), शिरोमणि अकाली दल संयुक्त और किसानों की पार्टी संयुक्त समाज मोर्चा ने आप, कांग्रेस और अकाली दल की परेशानियां बढ़ा दी हैं.

शिरोमणि अकाली दल (SAD) का मुख्यमंत्री का चेहरा संभवतः सुखबीर बादल ही हैं और आम आदमी पार्टी ने भगवंत मान (Bhagwant Mann) को अपना सीएम कैंडिडेट घोषित किया है. मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब का संभावित उम्मीदवार घोषित करने को लेकर भी स्थिति स्पष्ट नहीं है.

लेकिन हाल ही में चरणजीत सिंह चन्नी के भतीजे के घर ईडी की रेड के दौरान 8 करोड़ रुपये की बरामदगी से कांग्रेस के लिए सीएम का चेहरा चुनाव से पहले घोषित करना और भी टेड़ी खीर हो गई है. इन समीकरणों के बीच यह चुनाव चन्नी बनाम भगवंत मान होगा इस पर राजनीतिक विशेषज्ञों की राय भी अलग-अलग है.

पंजाब के इस चुनाव में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी, बीजेपी, अकाली दल-बीएसपी गठबंधन मैदान में है. पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की लोक कांग्रेस पार्टी ने बीजेपी के साथ गठबंधन किया है. इसके अलावा किसान आंदोलन संगठनों का संयुक्त समाज मोर्चा (SSM) भी चुनाव मैदान में है.

यह भी पढ़ें: Trivendra Singh Rawat नहीं लड़ना चाहते विधानसभा चुनाव, JP Nadda को खत लिख बताई वजह

इन सारे समीकरणों को लेकर इंस्टीट्यूट ऑफ डेवलपमेंट एंड कम्यूनिकेशन के निदेशक डॉक्टर प्रमोद कुमार ने बीबीसी की एक रिपोर्ट में कहा है कि हाल के दिनों में आम आदमी पार्टी की लोकप्रियता कम हुई है क्योंकि भगवंत मान को मुख्यमंत्री बनाने के लिए महज 21 लाख लोगों ने वोट डाले जबकि पिछले चुनाव में आम आदमी पार्टी के लिए 36 लाख लोगों ने वोट किया था. अगर उनकी लोकप्रियता बढ़ी होती तो 36 लाख से ज्यादा लोगों को मुख्यमंत्री के नाम पर मुहर लगाने के लिए हुए वोट में हिस्सा लेना चाहिए था.

वहीं पंजाब यूनिवर्सिटी में राजनीति विज्ञान के प्रोफेसर डॉक्टर आशुतोष कुमार का मानना है चुनाव में मुख्य तौर पर मुकाबला कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच ही होगा. उनकी उनकी मानें तो भाजपा-कैप्टन अमरिंदर गठबंधन और शिरोमिण अकाली दल-बसपा मुख्य मुकाबले में नहीं हैं.

शिरोमणि अकाली दल के बारे में उनका मत है कि यह एक आदमी के परिवार की ही पार्टी बनकर रह गई है. संयुक्त समाज मोर्चा के बारे डॉक्टर आशुतोष का कहना है कि यह दल आम आदमी पार्टी को नुकसान पहुंचा सकता है. वह कहते हैं कि पिछले चुनाव में कुछ सीटों पर हार-जीत का मार्जिन बहुत कम था, इसलिए वह इस चुनाव को चन्नी बनाम भगवंत मान बता रहे हैं.

Tags: Punjab Election 2022, Punjab elections

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर