Home /News /punjab /

कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब में एक साथ 113 जगहों पर चल रहा अनिश्चितकालीन धरना

कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब में एक साथ 113 जगहों पर चल रहा अनिश्चितकालीन धरना

कृषि कानून के साथ पंजाब में एक साथ 113 जगहों पर चल रहा अनिश्चितकालीन धरना

कृषि कानून के साथ पंजाब में एक साथ 113 जगहों पर चल रहा अनिश्चितकालीन धरना

पंजाब (Punjab) के पांच और ब्रांडेड स्टोरों (Branded Stores) के बाहर हफ्ते भर का धरना देना शुरू कर दिया है. इनमें से तीन स्टोर जीरकपुर, अमृतसर, जालंधर में और दो लुधियाना में स्थित हैं. बठिंडा के भुचो मंडी में एक ब्रांडेड स्टोर के सामने पिछले एक साल से धरना जारी है.

अधिक पढ़ें ...

    चंडीगढ़. केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों (Agricultural Law) के खिलाफ विभिन्न किसान यूनियनों (Kisan Union) के भारत बंद के बाद अब भारतीय किसान यूनियन (उग्राहन) (BKU Ugrahan) ने गुरुवार को कर्मचारियों को नौकरी से निकालने के विरोध में पंजाब के पांच और ब्रांडेड स्टोरों (Branded Stores) के बाहर हफ्ते भर का धरना देना शुरू कर दिया है. इनमें से तीन स्टोर जीरकपुर, अमृतसर, जालंधर में और दो लुधियाना में स्थित हैं. बठिंडा की भुचो मंडी में एक ब्रांडेड स्टोर के सामने पिछले एक साल से धरना जारी है. स्‍टोर के प्रबंधन ने कुछ कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया था, जिसके विरोध में पिछले साल एक अक्टूबर से स्‍टोर के बाहर धरना जारी है.

    बीकेयू उग्राहन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष शिंगारा सिंह मान ने कहा कि हमने पांच और स्‍टोर पर धरना शुरू कर दिया है. हमने सभी स्‍टोर से कर्मचारियों को वापस काम पर रखने के लिए कहा है. उन्होंने कहा, ‘फिलहाल हम एक हफ्ते के लिए ही स्‍टोर के बाहर धरना देंगे और अगर जरूरत पड़ी तो हम इसे और आगे भी बढ़ा देंगे.’ किसनों का विरोध प्रदर्शन अब अनिश्चितकालीन धरने में तब्‍दील होने लगा है. बता दें कि शुक्रवार को इस धरना प्रदर्शन को एक साल पूरे हो जाएंगे.

    बता दें कि भारतीय किसान यूनियन (उग्राहन) द्वारा रेल की पटरियों, 30 से ज्‍यादा पेट्रोल पंपों, सात भाजपा नेताओं के घरों सहित अब तक 33 स्‍थानों पर पक्‍का धरना दिया जा रहा है. पिछले साल 21 नवंबर को रेल पटरियों पर चल रहे धरने को खत्‍म कर दिया गया था. वहीं अन्य स्थानों पर चल रहे धरने को हर महीने आगे बढ़ाया जा रहा है. अभी तक पंजाब में 113 जगहों पर पक्का धरना चल रहा है. इनमें रेलवे पार्क, कॉरपोरेट घरानों के पेट्रोल पंप, अडानी के वेयरहाउस, टोल प्लाजा और कॉरपोरेट मॉल शामिल हैं. गुरुवार को पंजाब के पांच ब्रांडेड स्टोरों के बाहर पक्का धरना शुरू हो गया, जिससे धरना स्थलों की संख्या 108 से बढ़कर 113 हो गई है.

    अडानी लॉजिस्टिक्स सर्विसेज ने पिछले महीने किसानों के अनिश्चितकालीन धरने का हवाला देते हुए लुधियाना के किलारायपुर गांव में एक वेयरहाउस पर अपना परिचालन बंद कर दिया था. धरने के चलते एक कॉरपोरेट घराने के कई स्टोर भी बंद कर दिए गए हैं. सूत्रों ने कहा कि स्टोर ने अपने डिलीवरी कार्य को ऑनलाइन स्थानांतरित कर दिया है, लेकिन जमीनी स्‍तर पर कई लोगों की नौकरी चली गई है. लुधियाना इकाई के भारतीय किसान यूनियन (उग्राहन) के अध्यक्ष सौदागर सिंह घुदानी ने कहा, ‘कॉर्पोरेट छोटे दुकानदारों का धंधा खा रहे हैं, इसलिए हम छोटे दुकानदारों और निश्चित रूप से किसानों का समर्थन कर रहे हैं.’

    Tags: Agricultural Law, Agricultural Law Protest, Bhartiya Kisan Union, Punjab

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर