Home /News /punjab /

क्या पंजाब में आगे बढ़ेगी चुनाव की तारीख? CM चन्नी के बाद BJP, अकाली दल ने EC से की ये मांग

क्या पंजाब में आगे बढ़ेगी चुनाव की तारीख? CM चन्नी के बाद BJP, अकाली दल ने EC से की ये मांग

केंद्रीय चुनाव आयोग. (फाइल फोटो)

केंद्रीय चुनाव आयोग. (फाइल फोटो)

Punjab Assembly Election: मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने 13 जनवरी को निर्वाचन आयोग से मतदान की तारीख छह दिन के लिए आगे बढ़ाने का आग्रह किया था ताकि, अनुसूचित जाति के 20 लाख लोग राज्य विधानसभा चुनाव में अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकें. अनुसूचित जाति वर्ग से आने वाले मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि 10 से 16 फरवरी तक राज्य से बड़ी संख्या में अनुसूचित जाति के श्रद्धालुओं के उत्तर प्रदेश के बनारस जाने की संभावना है. ऐसे में इस समुदाय के कई लोग राज्य विधानसभा चुनाव में वोट नहीं डाल पाएंगे.

अधिक पढ़ें ...

चंडीगढ़. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और उसके सहयोगी शिरोमणि अकाली दल (संयुक्त) ने निर्वाचन आयोग से गुरु रविदास जयंती के मद्देनजर पंजाब में 14 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीख आगे बढ़ाने की अपील की है. गुरु रविदास की जयंती 16 फरवरी को है.

भाजपा की पंजाब इकाई के महासचिव सुभाष शर्मा ने रविवार को मुख्य निर्वाचन आयुक्त को लिखे एक पत्र में चुनाव की तारीख आगे बढ़ाने की मांग करते हुए कहा, “राज्य में अनुसूचित जाति (एससी) समुदाय सहित गुरु रविदास जी के अनुयायियों की अच्छी खासी आबादी है, जो पंजाब की आबादी का लगभग 32 प्रतिशत है.”

भाजपा ने अपनाया कल्याण सिंह का ‘हिट’ फॉर्मूला, जानें कैसे साधा जातीय गणित

शर्मा ने लिखा है, “इस पावन अवसर पर लाखों श्रद्धालु उत्तर प्रदेश के बनारस में गुरुपर्व मनाने के लिए जाएंगे. इस कारण से उनके लिए मतदान प्रक्रिया में भाग लेना संभव नहीं होगा. इसलिए आप सभी से अनुरोध है कि मतदान की तिथि को आगे बढ़ाया जाए ताकि पंजाब के ये मतदाता चुनाव प्रक्रिया में भाग ले सकें.”

CM चन्नी EC से कर चुके हैं चुनाव की तारीख बढ़ाने की अपील
शिरोमणि अकाली दल (संयुक्त) के प्रमुख सुखदेव सिंह ढींडसा ने भी निर्वाचन आयोग को लिखे पत्र में मतदान की तारीख आगे बढ़ाने की मांग की. मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने 13 जनवरी को निर्वाचन आयोग से मतदान की तारीख छह दिन के लिए आगे बढ़ाने का आग्रह किया था ताकि, अनुसूचित जाति के 20 लाख लोग राज्य विधानसभा चुनाव में अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकें.

1 साल, 157 करोड़ खुराक और दो वैक्सीन, भारत में ऐसा रहा कोविड वैक्सीनेशन का एक साल

अनुसूचित जाति वर्ग से आने वाले मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि 10 से 16 फरवरी तक राज्य से बड़ी संख्या में अनुसूचित जाति के श्रद्धालुओं के उत्तर प्रदेश के बनारस जाने की संभावना है. ऐसे में इस समुदाय के कई लोग राज्य विधानसभा चुनाव में वोट नहीं डाल पाएंगे.

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की पंजाब इकाई के प्रमुख जसवीर सिंह गढ़ी ने सबसे पहले मतदान की तारीख आगे बढ़ाने की मांग की थी. पंजाब की 117 विधानसभा सीटों के लिए 14 फरवरी को मतदान होना है और मतगणना 10 मार्च को होगी.

Tags: Assembly elections, BJP, Congress, Punjab Assembly Election 2022, Shiromani Akali Dal

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर